XXX Kahani दो दो चाचिया
07-14-2017, 12:27 PM,
#1
XXX Kahani दो दो चाचिया
दो दो चाचिया



में तब 13 साल का था और नाइंत क्लास में आया था. मेरे मा बाप गाओं में रहते थे, और वो चाहते थे की में आगे की पढ़ाई में शहर जा कर करू. मेरे दो चाचा शहर में रहते थे, पिताजी ने मुझे उनके यहा पढ़ाई के लिए भेज दिया. मेरे बड़े चाचा के साथ मे रहने लगा. उनके घर में चाचा रहते थे जो टीचर थे और गाओं मे पोस्टिंग थी, चाचा गाओं मे ही रहते थे और शनिवार की रात ही घर आते थे और सोमवार की सुबह वापस चले जाते थे. चाचा 35 साल के थे और चाची 27 की, उनके एक लरका था जो 3 साल का था और एक लर्की जो अभी दो महीने पहले पैदा हुई थी. चाचिजी अभी भी उसको दूध पिलाती थी. मेरी नज़र अक्सर उनकी छातिओ पर पड़ जाती थी, जो दूध से भरी हुई होती थी और कम से कम 40 इंच की थी. चाचिजी सावले रंग की थी. उनकी कमर भी मोटी थी और गांद भी. उनके निपल्स काले- भूरे रंग के थे. कई दफे वो बची को दूध पिलाते पिलाते सो जाती तो मे उनके बूब्स तबीयत से देखता.

बड़े चाचा के साथ ही सटा हुआ था छ्होटे चाचा का मकान, उनकी शादी को कोई दो साल हुए थे. चाचा की उम्र थी 25 साल और चाची कोई 18-19 की थी. छ्होटी चाची बड़ी चाची से बिल्कुल विपरीत थी. वो एकद्ूम गोरी और स्लिम थी. उनकी हाइट 5फ्ट 4 इंच थी और उनकी चुचिया शायद 34 साइज़ की थी. कमर पतली थी और गांद का साइज़ शायद 36 होगा. छ्होटे चाचा भी सरकारी नौकरी में थे और उनको कई बार 15 -15 दिन के लिए टूर पर जाना परता था. मेरी बरी चाची का नाम था विमला और छ्होटी का सुनीता. घर में एक नोकरानी काम करने आती थी जिसका नाम था कमला, वो छ्होटी उम्र में ही विधवा हो गयी थी. उसका लगभग पूरा दिन हुमारे घर में ही बीतता था.

छ्होटी बच्ची के कारण बरी चाची मुझ पेर ज़्यादा ध्यान नही दे पति ओर छ्होटी चाची ही मुझे तय्यार करती और स्कूल भेजती थी. दोनो घरो के बीच में एक चॉक था, जहाँ सर्दिओ में दोनो चाचिया आराम से कापरे खोल कर नहा लेती थी. में भी यही नहाता था खास तौर पेर सरदीओ में. कमला भी अक्सर हुमारे चोवोक में ही नहाती थी. चाचा अक्सर बाहर होते थे इसलिए में छ्होटी चाची के साथ ही सोता था. जब छ्होटे चाचा आते तो में लॉबी में या बड़ी चाची के साथ सोता था. एक दिन कुछ समय मेरी नज़र कुछ किताबो पेर पड़ी. इनमे चाची की चुदाई की कहानिया भी थी. पढ़ते पढ़ते मेरी नूनी भी टन जाती थी. में इनको अक्सर चोरी चोरी पढ़ता. अलग अलग मुद्राओ में चुदाई के फोटो वाली भी वाहा पेर थी. में उनको भी अपनी कोर्स की किताब में डाल कर पढ़ता. एक दिन कोई फिल्म की सीडी तलाशते तल्षटे मेरे हाथ ब्लू फिल्म की सीडी भी लग गयी , छ्होटे चाचा ने कम से कम 10-12 ब्लू फिल्म की सीडी च्छूपा रखी थी, बड़े चाचा की कमरे में भी इतनी ही सीडी पड़ी थी. मौका लगते ही में उनको भी चोरी चोरी देखता और चाचीॉ के बारे मे सोच मुट्ठी मरता. मेरा लंड बस जवान होने को था.
एक दिन छ्होटे चाचा घर आए हुए थे. मे लॉबी मे सो रहा था. रात मे मुझे ज़ोर की सूसू लगी. बाथरूम की तरफ जर आहा था तो छ्होटे चाचा के बेडरूम से कुछ अजीब सी आवाज़े आ रही थी. कमरे का दरवाज़ा खुला हुआ था, बस हल्का सा परदा खिछा हुआ था मुझसे रहा नही गया, मे पर्दे के पीछे जा कर अन्दर चुपचाप देखने लगा. अन्दर अलग ही नज़ारा था. छ्होटी चाची ने अपनी दोनो टाँगे मॉड़ कर चाचा की कमर पेर लपेटी हुई थी और उनके दोनो हाथो ने चाचा की गांद कस कर पकरी हुई थी चाचा का लंड चाची की चूत के अंडर बाहर आ जर आहा था. चाची बोले जा रही थी,' चोदो राजा और ज़ोर से, मेरी चूत की आग शांत कर दो, इतने दीनो से इसको लंड मिला है, मारो मेरी ज़ोर से, फाड़ दो मेरी फुददी, चोद चोद कर इसका कचूमर निकल दो, आ श ऊवू,,' वो बोल रही थी और चाचा के स्ट्रोक्स के साथ अपनी गांद हिला रही थी. चाचा भी ज़ोर ज़ोर से स्ट्रोक्स लगा रहे थे,' ये ले रंडी तेरी चूत मे मूसल, आज मेरा लॉडा तेरी चूत की वो हालत करेगा की आने वेल डूस दिन तक लंड माँगने की इसकी हिम्मत नही होगी,' वो बोले,' हा जान चोद चोद कर फाड़ दो, बुझाओ मेरी चूत की आग,' चाची बोली.' कोई 2 मिनिट मे चाचा झाड़ गये, और चाची से अलग हो साइड मे लेट गये, चाची अभी भी संतुष्ट नही हुई थी और अपनी बालो वाली चूत मे उंगली कर रही थी,' जान इनटी भी क्या जल्दी थी मेरी चूत ने तो पानी छ्चोड़ा ही नही, उन्होने कहा.' " 15 -15 दिन तक तेरी चूत नही मिलती और इसलिए एग्ज़ाइट्मेंट मे जल्दी पानी निकल जाता है जान, तू मेरा लंड चूस कर जल्दी तय्यार कर मे दूसरी बार देर तक चोदुन्गा तुझे,' ये कह कर चाचा ने अपना लंड चाची के मूह मे डाल दिया, चाची उसको लॉलीपोप की तरह चूसने लगी.' मुझे डर लगने लगा मे चुपचाप अपने बिस्तेर पर आया चाची के बारे मे सोच कर मूठ मारी और सो गया. सुबह छ्होटे चाचा वापस बाहर चले गये. मे भी स्कूल चला गया.

दिन मे में पढ़ाई कर रहा था चोटी चाची और कमला की बातचीत मुझे सुनाई दी,' क्यू दीदी रात मे तो खूब महाभारत की लड़ाई हुई होगी?" कमला ने छ्होटी चाची से पूछा,' अरे कमला, हुमारे नसीब मे कहा महाभारत ,' चाची उदास स्वर में बोली,' क्यू दीदी ऐसा क्या हुआ? भैया दिखते तो पूरे मर्द हैं? कमला ने पूछा,' नही कमला वैसे तो पूरे मर्द हाइन बस मैदान में ज़्याद टिक नही पाते,' चाचिजी ने कहा.' ओह मतलब पानी जल्दी छूट जाता है?" कमला ने पूछा,' हा कमला,' चाचिजी ने जवाब दिया." छ्यूटेगा ज़्यु नही दीदी आप हो ही इतना गरम माल फिर मर्द इतने दिन बिना चुदाई के रहेगा तो उसका पानी तो एक मिनिट मे निकलेगा ही,' कमला हस्ते हुए बोली. " मेरी चूत तो प्यासी ही रह गयी कमला,' चाचिजी बोली.' मे कुछ करू दीदी?" कमला ने पूछा.' अब तू क्या करेगी तेरे पाओ के बीच मे लंड थोड़े ही उगा हुआ है?" चाचिजी ने कहा. " आप मुझे कह के तो देखो आपकी चूत की आग तो मे बुझा कर मानूँगी,' कमला बोली.' ठीक है कमला अब मेरी चूत तेरे हवाले लेकिन अगर मेरी छूट की आग नही बुझी तो मे तेरी गांद मार दूँगी,' चाचिजी हस्ते हुए बोली,' मार लेना दीदी मेरी गांद को भी ठंडक मिलेगी,' कमला हस्ते हुए बोली. मुझे लगा दोनो औरते एक दूसरे से बहुत ज़्यादा खुली हुई हाइन.
मे रात का इंतज़ार करने लगा, मुझे पता था आज छ्होटी चाची की चूत के लिए कमला कुछ सामान ज़रूर जुटाएगी. छ्होटी चाची रात में 8 बजे खाना खा कर नहाई फिर उन्होने एक सेक्सी नाइटी पहनी. काले रंग की नाइटी में छ्होटी चाची की काली चड्डी सॉफ दिखाई दे रही थी और उनकी गांद की दोनो फांके सॉफ झलक रही थी. छोटी चाची ने ब्रा नही पहनी थी और उनके छ्होटे और कसे हुए बूब्स सॉफ दिखाई दे रहे थे. छ्होटी चाची के निपल्स एकद्ूम पिंक थे, मुझे लगा इनकी चूत भी एकद्ूम गुलाबी होगी. कमला ने सारे काम जल्दी ही निपटा दिए, वो घर मे काम करते समय सिर्फ़ ब्लाउस और पेटिकोट पहनती थी. उसका पेटीकोआट अक्सर उसकी मोटी गांद के बीच फस जाता और मुझे अंदाज़ हो जाता की वो चड्डी नही पहनती.
नौ बजे ही छ्होटी चाची ने मुझे दूध दिया और बत्ती बुझा दी,' रमेश अब तुम सो जाओ, सुबह जल्दी उठ कर तुमको स्कूल जाना है,' ये कह कर चाची ने मुझे चादर ओढ़ा दी और मेरे सिर पेर किस कर के चली गयी,' चाची से अच्छे पर्फ्यूम की खुश्बू आ रही थी.

कमला चोटी चाची के कमरे मे चली गयी, दोनो के हस्ने की आवाज़े आ रही थी, कोई दस मिनिट बाद छ्होटी चाची ने कहा,' कमला जाकर देख तो लो रमेश जग तो नही रहा?" कमला बिना आवाज़ किए मेरे पास आई और मुझे गौर से देखा, उसको यकीन हो गया की मे गहरी नींद मे हू,' दीदी रमेश भैया तो गहरी नींद मे हॅ, अब देर करने से क्या फायडा,' वो बोली. थोड़ी देर बाद छ्होटी चाची के कमरे से ब्लू फिल्म की आवाज़े आनी लगी.
-  - 
Reply
07-14-2017, 12:27 PM,
#2
RE: XXX Kahani दो दो चाचिया
मुझे लगा की अब दोनो औरते अपने कार्यक्रम मे मस्त होगी तो मे चुपचाप उनके कमरे की तरफ गया, अन्दर नाइट लॅंप जल रहा था. मे पर्दे के पीछे छुप गया. अंडर देखा तो दंग रह गया. छ्होटी चाची बिस्तेर पर टाँगे चौरी कर के लेटी हुई थी. उनके गोल और टाइट बूब्स जैसे बाहर को कूदने को लालायित थे. उपर की गुलाबी चुचिया एकदम बंदूक की गोली की नोक की तरह सख़्त हो रखी और नुकीली हो रखी थी. कमला भी एकद्ूम नंगी थी. उसकी नंगी और पहार जैसी काली गांद मेरी तरफ थी, और वो चाची की चूत चाट रही थी, चाची ने उसके बाल पकरे हुए थे,' कमला तेरी जीब तो लंड से भी ज़्यादा मज़ा दे रही है,' चाची बोली,' दीदी मेरी जीभ जानती है आपकी चूत को कहा कहा कितना प्रेशर चाहिए, लंड तो अँधा होता है चूत की ठुकाई कर अंडर पानी डाल कर चला जाता है,' कमला ने कहा और उसकी चूत चाटने की आवाज़ें और चाची की ऊओह आ की आवाज़ें टेक्स हो गयीं,' कमला तू तो पूरी रंडी है चूस मेरी जान चूस मेरी चूत, बहुत मज़ा आ रहा है,' चाची ने कहा,कमला अब जीभ और अंडर डाल कर जीभ से चाची की चूत को चोद रही थी, छ्होटी चाची हवा मे गांद उठा उठा कर कमला की जीभ को चूत दे रही थी,' चोद कमला चोद मुझे चोद रानी और ज़ोर से चोद, मेरी चूत आज से तेरी गुलाम है, चोदति जा रानी,, ऊऊऊहह आआआआआहह बहुत मज़ा आ रहा है तेरी जीभ पर मेरी चूत अपना पानी छ्चोड़ने वाली है,' चाची बोली और कस कर कमला के बॉल पाकर लिए. चाची की साँस फूल रही थी, कमला गतगत उनकी गुलाबी चूत का रस पी रही थी. " दीदी आपकी चूत क्या है ,अंगूर का मीठे दाना है,' कमला बिली.' चाची शर्मा गयी, बोली,' धत्त!'
" अब मेरा क़र्ज़ उतरो दीदी,' कमला बोली और टाँगे चोरी कर के लेट गयी, चाची अब उसकी टॅंगो के सामने थि.खम्ल की चूत एकद्ूम सॉफ थी.' उसकी चूत के मोटे काले हॉट मुझे सॉफ दिखाई दे रही थी. कमला की चूत के काले होटो के बीच से झांते चूत के अंडर के मोटे काले होट भी दिख रहे थे. कमला की चूत से चाची की चूत ठीक उल्टी थी, अब चाची की गांद मेरी तरफ थी इसलिए वो सॉफ दिख रही थी. चाची की चूत ऐसा लगता था जैसे किसी 14 साल की लर्की की चूत हो एकद्ूम सॉफ और टाइट. चाची ने अपनी ड्रॉयर से एक नक़ली लंड निकाला उसको निरोध पहनाया और कमला की चूत मे घुसा दिया. चाची अब कमला को चोद रही थी, कमला दो मिनिट मे ही गरम हो गयी,' चोदो दीदी इस रंडी का भोसड़ा इस लॉर से,' कमला ने कहा और वो गलिया बोलने लगी,' ओह मदारचोड़ ऊवू भेन्चोद क्या लंड है फाड़ दो इस से मेरा कला भोसड़ा और ज़ोर से चोदो,' ये कह कर कमला अपने मोटे मोटे काले चूटर हवा मे उछालने लगी.' उसके बड़े बड़े 42 इंच के लगभग के बूब्स भी उछाल रहे थे और काले मोटे निपल्स एकद्ूम तने हुए थी, चाची बीच बीच मे उसके निपल्स मसल देती थी. कमला को 3-4 मिनिट मे ओर्गस्‍म हो गया, उधर ब्लू फिल्म अभी भी चल रही थी, उसमे एक जवान लरके का लंड दो बुद्दी औरते चूस रही थी, मेरा लंड पत्थर की तरह हो रखा था, और उत्तेजना से इतना पानी निकला की मेरा निक्केर गीला हो चुका था, मैने एग्ज़ाइट्मेंट मे निक्केर नीचे सरका दिया और उन दोनो की काम लीला देख कर मूठ मार रहा था. चाची के झरने के साथ ही मेरे पहला वीर्यपात हो चुका था, लेकिन लंड फिर भी शांत नही हुआ मे दूसरी बार मुति मार रहा था, अब जैसे ही दोनो औरते झाड़ गयी मेरी नज़र ब्लू फिल्म पर थी, वाहा एक औरत अब उस लरके का सुपरा चूस रही थी तो दूसरी उसके आँड चाट रही थी. मे ये देख ही रहा था की मुझे पता ही नही चला की कमला और छ्होटी चाची बाथरूम जाने के लिए रूम से बाहर जाने लगी थी, कमला मुझे देख कर लगभग चीखी ,' अर्रे तुम यहा क्या कर रहे हो,' मुझे कुछ समझ नही आया,' सूसू करने आया था,' मैने कहा और फूले हुए लंड को निक्केर मे ठुसने की कोशिश करते हुए भाग कर बिस्तेर पर आ कर चुपचाप लेट गया.
मे सोया ही थी की कमला अंडर आई और नाइट लॅंप जला दिया. वो मेरे पास आकर बोली,' रमेश भैया, क्या हुआ, आपो नींद नही आ रही क्या?' मे सोने की आक्टिंग करने लगा मगर कमला मुझे ज़ोर से झिन्झोर्ने लगी, अब सोने की आक्टिंग करना बेकार था, मैने ऐसा ज़ाहिर काइया जैसे मे नींद से उठा हू,' क्या हुआ कमलाजी?' मैने पूछा. कमला ने मुझे आंक मारी और बोली,' अब आप सोने की आक्टिंग बंड करो और जल्दिसे बताओ पर्दे के पीछे क्या कर रहे थे नही तो मे अभी चाचिजी को बुलाती हू,' उसने कहा, मेरे पसीने छ्छूट गये,' कुछ नही मुझे सूसू लग रहा था बाथरूम जा रहा था, चाचिजी का रूम खुला देख कर अंडर झाँकने लग गया,' मैने कहा.' देखो बाथरूम तो लॉबी से अटॅच है इसके लिए इसके लिए वाहा आने की ज़रूरत कहा, और फिर तुमने अपनी नुन्नि तो पहले ही बाहर निकल रखी थी, क्या पर्दे के पीछे सूसू करने वेल थे?' ये कह कर कमला हस्ने लगी.
मेरे पसीने छ्छूट रहे थे और मे लंड को दबा कर बैठा हुआ था,' चलो आओ मे तुमको सूसू करवा लाती हू वैसे भी तुम बिना सूसू किए हुमको देख कर लेट गये आओ चलो नही तो बिस्तेर गीला हो जाएगा,' कमला मुस्कराते हुए बोली. मुझे कतो तो खून नही,' नही मुझे अब सूसू नही आ रही,' मैने कहा,' जल्दी चलो बातरूम मे नही तो मे छ्होटी चाचिजी को भी बुला लूँगी हम दोनो तुमको पाकर कर ज़बरदस्ती सूसू करवाएँगे,' कमला बोली तो डर के मारे मेरी गांद गले मे आ गयी और मे उठ खड़ा हुआ. हालाँकि मैने घुटने मोर रखे थे मगर निक्केर मे ताना हुआ लंड कैसे छुपाता. बाथरूम पहुच कर मैने कहा,' मे खुद सूसू कर लूँगा अब आप जाओ.'" ऐसे कैसे कर लोगे आज तो मे ही तुमको सूसू कर्वौन्गि ,' कमला ने कहा और मेरे निक्केर को उतारने लगी, मे नही नही करता रहा मगर तब तक तो मेरा निक्केर घुटनो तक नीचे खिच चुका था और लंड उछाल कर बाहर आ चुका था,' रमेश बाबू ऐसे तो सूसू कैसे करोगे तुम्हारी नूनी तो तनी हुई है जब तक ये बैठेगी नही सूसू उतेरगा नही,' कमला बोली और धीरे धीरे मेरे लंड के आगे की चमरी आयेज पीछे करने लगी. थोरे दीनो पहले ही मैने मूठ मार मार कर आयेज की चमरी पीछे खिसकाई थी मगर अभी भी वो आसानी से पूरी पीछे नही जाती थी और दर्द भी होता था, कमला ने साबुन लिया और उसको चमरी पर रग़ाद दिया इसके बाद वो धीरे धीरे चमरी को पूरा आगे पीछे करने लगी. मेरी हालत खराब थी. कमला ने लंड को मुति मे कस कर पकरा हुआ था मुझे अछा भी लग रहा था , कोई दो मिनिट भी नाहू हुए थे की मेरा फव्वारा छ्छूट गया जो कमला की च्चती पर गिरा, ब्लाउस मे से उसके माममे सॉफ दिख रहे थे. " तो पर्दे के पीछे ये काम हो रहा था रमेश बाबू,' कमला हस्ते हुए बोली,' ये तो हम से ही करवा लेते क्यू अपने हाथ को तकलीफ़ देते हो,' कमला बोली. मेरा लंड मुरझा रहा था और छ्होटा हो गया था,' अब मूतने की कोशिश करो रमेश बाबू,' ये कह कर कमला मूह से सी सी की आवाज़ निकालने लगी जैसे छ्होटे बचे को मूटा रही हो, थोड़ी देर मे मेरा मूत निकला, कमला ने लंड के च्छेद पर तंगी बची खुचि बुनो को हाथ से सॉफ काइया और मुझे निक्केर वापस पहना दिया,' आप छ्होटी चाची को तो ये नही बताओगे?' मैने पूछा,' अगर तू मेरी सारी बात मानेगा तो नही कहूँगी , बोल मानेगा?' उसने कहा,' मे बोला,' आप जो कहोगे मे करूँगा बस आप चाचिजी को कुछ मत बताना.' " चल अब बिस्तेर पर जाकर सो जा तुझे सुबह जल्दी उठ कर स्कूल जाना है,' कमला बोली और वापस छ्होटी चाची के कमरे मे चली गयी इस बार मेरी अंडर झाँकने की हिम्मत नही हुई.

मुझे रात भर डर के मारे नींद नही आई, और मारे डर के चाची के कमरे में दुबारा झाँकने की हिम्मत नही हुई. मारे डर के लंड भी बेचारा सिकुर कर परा रहा. कोई 2-3 बजे मेरी नींद लगी. मुझे छ्होटी चाची बौरनविता के दूध के साथ सुबह 5-45 पर उठाती थी. दूध पी कर में ब्रश करता टाय्लेट जाकर तय्यार होता फिर 6-45 पर मेरी स्कूल बस आ जाती थी. अगले दिन सुबह मेरी नींद खुली मुझे लगा छ्होटी चाची मुझे जगाने आई हाइन, मगर देखा तो कमला दूध का ग्लास लेकर मेरे सिरहाने बेती थी. मैने ग्लास पकरा और दूध पीने लगा, जैसे ही दूध ख़तम हुआ कमला ने अपने ब्लाउस के बटन खोलने शुरू कर दिए, इस से पहले की मुझे कुछ समझ मे आता कमला बोली,' रमेश बाबू अब आप बारे हो गये हो अब आपको ग्लास वाला नही ये दूध पीना चाहिए,' और हस्ते हुए उसने अपने काले मोटे निपल्स मेरे होतो के आगे कर दिए, मे उसका निपल्स चूसने लगा, मेरे शरीर में करेंट दौड़ा और में अब उसका एक मोटा बूब अपने दोनो हाथो में लेकर दबाने मसालने लगा और निपल्स ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा, कमला सी सी उई उई की आवाज़े करने लगी,' ले अब दूसरा मुम्मा भी चूस एक को ही निचोरेगा क्या हरामी!' वो बोली और अब मेरे सामने दूसरा बूब था जिसे मैने निचोरना शुरू कर दिया, कमला मेरे हाथो की ताक़त से डंग थी,' आबे तेरे हाथो मे तो बड़ी ताक़त है, मज़बूत पाकर है तेरी, वो बोली. उधर कमला के मस्त और मोटे मुमे दबाते दबाते मेरा लंड आकर कर निक्केर को फाड़ रहा था. कमला ने अपना हाथ नीचे लिया और निक्केर के उपेर से ही उसको दबाने लगी,' रमेश बाबू ये बेचारा आकर कर पठार हो रहा है और गरम लोहे की तरह उबाल रहा है, इसको ठंडक पानी निकालने के बाद ही पहुचेगी,' उसने कहा और दूसरे हाथ से ज़प खोलने लगी. एक ही मिनिट मे मेरा लंड च्चत की तरफ देख रहा था,' कमलाजी प्लीज़ इसको वापस दल दो छ्होटी चाची आ जाएँगी,' मैने कहा,' उन्होने तुमको नंगा नही देखा क्या रमेश बाबू? देख भी लेंगी तो क्या है!' कमला ने कहा और मेरा लंड और ज़ोर से दबा दिया. " उफ्फ' मेरे मूह से निकला तो कमला ने पाकर धीरे कर दी और मेरे सुपरे पर उंगलिया फिरने लगी, ' रमेश बाबू तुमने दूध पी लिया अब मेरी बरी है,' ये कह कर उन्होने मूह नीचे काइया और अपनी जीभ मेरे मूट के च्छेद पर फेरने लगी, मुझे कुछ समझ नही आया, कमला ने अब मेरे सुपरे की चमरी पीछे की और उसको लॉलीपोप की तरह चूसने चाटने लगी, दन्तो से वो मेरी चमरी को आगे पीछे सरकने लगी. उसके मूह से गिरते थूक ने मेरे पूरे लंड और अंडकोषों को गीला कर दिया था, मे नया खिलाड़ी था ज़्यादा कंट्रोल नही कर पाया, दो मिनिट मे ही मेरा शरीर टन गया और वीरया की पहली बूँद उच्छल कर कमला के मूह मे जा गिरी, कमला ने तुरंत अपने होट मेरे लॉड पर कस दिए और उछाल रही एक एक बूँद को गटकती रही, जब वीर्य की आखरी बूँद ने मेरे लंड से बाहर का रास्ता ढूँढ लिया तब कही जा कर कमला ने अपना मूह मेरे लंड से हटाया,' रमेश बाबू कुंवारे लंड का वीरया तो अमृत होता है आज तुमने अमृत पीला दिया,' ये कह कर उसने ब्लाउस के बटन बंड कर दिए मैने भी निक्केर बंड किया और बाथरूम मे भाग गया. उस दिन स्कूल मे मेरा बिल्कुल मान नही लगा किताबो की बीच मे मुझे कमला के मुममे दिखाई दे रहे थे.
-  - 
Reply
07-14-2017, 12:27 PM,
#3
RE: XXX Kahani दो दो चाचिया
दोपहर 2 बजे के आसपास मे घर आया, दरवाज़ा छ्होटी चाची ने ही खोला. मैने बॅग पटका और जैसे ही बाथरूम की तरफ जाने लगा, छोटी चाची ने आवाज़ दी,' रमेश रुक अभी बाथरूम मे मत जाना,' सुन कर मे वही खड़ा हो गया,' क्यू छ्होटी चाची?' मैने पुचछा,' एक मिनिट रुक,' छ्होटी चाची बोली. " सुबह नहा कर गया था स्कूल?" पास आकर छ्होटी चाची ने पूछा,' नही चाचिजी मे अभी नहा लूँगा,' मैने कहा,' रुक आज मे तुझे नहलौंगी, तेरा पानी गरम कर दिया है सर्दी मे मेल ज़्यादा हो जाता है तू रगर नही पाएगा,' छ्होटी चाची बोली, मे घबरा रहा था,' नही चाची मे खुद नहा लूँगा,' मैने कहा,' क्यू मे नही नहला सकती तुझे?' छ्होटी चाची ने पूछा,' नही चाचिजी वो बात नही पर मे खुद नहा लूँगा,' मैने कहा,' पिछली सर्दी तक तो तुझे मे ही नहलाती थी,' छोटी चाची ने कहा,' हॅ चाची पर अब मे बड़ा हो गया हू,' मैने कहा,' अछा तब तो पक्का मे ही तुझे नहलौंगी देखु तो सही मेरा भतीजा कितना बड़ा हो गया है,' कह कर छ्होटी चाची मुस्कराने लगी. इस से पहले की मे कुछ बोलता, छ्होटी चाची ने अपनी सारी उतार फेंकी, वो मेरे सामने सिर्फ़ ब्लाउस और पेटिकोट पहने खड़ी थी, उन्होने मेरे शर्ट के बटन खोलने शुरू कर दिए, मेचाची की गिरफ़्त से छूट कर भाग गया, मगर वो पीछे पीछे भागी और मेरा शर्ट पाकर लिया, मे भागते भागते जैसे ही सोफे तक आया छ्होटी चाची ने मेरा शर्ट पीछे से पाकर लिया,' शर्ट उतरता है या फादू,' वो बोली, 'नही उतरूँगा,' कह कर मे आगे भागने लगा,' कमला जल्दी इधर आ ये सूरज मान नही रहा इसे पाकरना परेगा,' चाची ने आवाज़ दी, आवाज़ सुन कर बड़ी चाची और कमला दोनो अंडर आ गयी. मे भागते भागते बिस्तेर तक गया तब तक तीनो औरतो ने मुझे पकर लिया और बिस्तेर पर गिरा दिया,' क्या हुआ?' बड़ी चाची ने पूछा,' कुछ नही दीदी सरदीओ मे इसको मे ही नहलाती हू आज भी नहलाने के लिए ले जाने लगी तो ये कहता है की मे अपने आप नहा लूँगा, मे बड़ा हो गया हू,' छ्होटी चाची बोली,' अच्छा ये बात है फिर तो आज इसको तू ही नहला,' ये कह कर बड़ी चाची भी मेरे कापरे उतारने लगी. तीनो औरतो ने मुझे दबाया हुआ था शर्ट तो कमला और छ्होटी चाची ने उतार दिया, उधर बड़ी चाची मेरा निक्केर नीचे खीच चुकी थी, मे अभी तक चड्डी नही पहनता था. जैसे ही मेरा निक्केर घुटनो तक आया तो बड़ी चाची की नज़र मेरे औज़ार पर पड़ी,' ठीक ही कहता है ये लरका, देख ये बड़ा तो हो गया,' बड़ी चाची मेरे तने हुए लंड को देख कर बोली, छ्होटी चाची भी नीचे देखने लगी,' हॅ दीदी इसकी सूसू वाली जगह तो बहुत बड़ी हो गयी,' छ्होटी चाची बोली और मेरे लंड को थप्पड़ मरने लगी,' क्या कर रही हो?' बड़ी चाची बोली, कुछ नही दीदी इसकी पिटाई कर रही हू,' वो बोली, ये सुन कर कमला और बड़ी चाची ज़ोर से हस्ने लगी,' अरे पागल अब ये औज़ार दूसरो की पिटाई लायक बुन चुका है,' बड़ी चाची बोली. नेरा लंड पठार बुन चुका था, कमला और छ्होटी चाची के बूब्स मेरे सीने पर ज़ोर डाले हुए थे, उधर बड़ी चाची बोली,' जुब तक इसका लिंग समान्य नही होता ये कैसे नहाएगा?'' हॅ दीदी इसको समान्य करना तो ज़रूरी है,' छ्होटी चाची ने कहा, ता तक बड़ी चाची मेरे व्रशण पर उंगलिया फेरने लगी,' इसका अंडकोष भी बड़ा हो गया है अब ये पूरा मर्द बुन गया है,' उन्होने कहा और मेरे अंडकोषो को सहलाने लगी मेरी हालत खराब हो रही थी, उधर छ्होटी चाची अब नीचे आई और मेरे लंड को चूसने लगी. कमला मेरा सीना और पेट सहला रही थी, बड़ी चाची मेरा अंडकोष और गांद सहला रही थी, जैसे ही छ्होटी चाची ने मेरा लंड चूसना शुरू किया उन्होने भी मेरी गोलिया मूह मे ले ली और उनको चाटने लगी मारे उत्तेजना के मेरी गांद उपेर नीचे होने लगी और कोई 2 मिनिट मे मेरा फव्वारा छ्छूट गया इस बार छ्होटी चाची इसको गतक गयी,' वा तू तो बड़ी उस्ताद निकली कुंवारे लंड का पानी पीने को मिला,' बड़ी चाची ने कहा और हस्ने लगी. मेरा लंड जैसे ही सुस्त पड़ा बड़ी चाची बोली,' अब ये आराम से नहा सकता है,' उन्होने कहा, चोटी चाची मुझे बाथरूम मे ले गयी.
छ्होटी चाची मुझे पाकर कर बाथरूम मे ले गयी और खुद के कापरे भी उतार कर नंगी हो गयी. पहले उन्होने मेरे बालो मे शॅमपू लगाया, फिर पीठ रगरी उसके बाद वो मेरी गांद पर साबुन लगा कर उसको रगार्ने लगी, पाओ पर भी साबुन लगाया. जैसे ही मेरा मूह चाची की तरफ हुआ उनकी नज़र मेरे फिर से खड़े हुए लंड पर पड़ी,' रमेश तू लरका है या पाजामा, तेरा लंड क्या दिन भर खरा ही रहता है क्या?' ये कहा कर उन्होने उस पर साबुन रगरना शुरू कर दिया, नादान उम्र मे ज़्यादा सब्र नही होता, कोई 10-15 स्ट्रोक्स मे ही मेरा पानी निकल गया, चाची ने उसको धो दिया और फिर साबुन लगा कर लंड सॉफ कर दिया,' अब इसको कह दो रात तक शांत रहे, रात मे ही इसकी सेवा होगी,' ये कह कर चाची मुझे तौलिया दे कर चली गयी,' आज रात इसके लंड को छूट का स्वाद चखाना परेगा,' छ्होटी चाची ने बाहर जा कर कमला से कहा,' मेरी छूट ही लेगी इसका जवान लंड,' कमला बोली,' अरे हरामज़ादी तेरे पास चूत नही भोसड़ा है, चूत तो सिर्फ़ मेरे पास है,' छ्होटी चाची बोली,' जिस ढंग से आपकी चूत लंड खाती है दीदी ये जल्दी ही भोसड़ा बन जाएगी, चाहो तो फिर अंडर ट्रक की पार्किंग करवा लो,' कमला हस्ते हस्ते बोली.' मे समझ गया रात मे चुदाई करनी होगी.
रात को खाना खाने के बाद में लॉबी में टीवी देखने लगा, उधर बड़ी चाची भी सोफे पर आ कर बेत गयी, उन्होने नाइटी पहनी हुई थी जिसका कलर पिंक था. बड़ी चाची ने उसको उँचा किया और बचे को दूध पिलाने लगी बचा एक बूब से दूध पी रहा था लेकिन उन्होने दोदो स्तन बाहर निकल रखे थे. दूध से भरे मोटे मोटे स्तन देख कर मेरी हालत खराब थी लंड निक्केर को फाड़ने की कोशिश मे था. मगर बड़ी चाची मेरी तरफ देखे बगैर टीवी देख रही थी. मेरी नज़र अब टीवी की जगह उनके बूब्स पर टिक गयी, उनके बूब्स बहुत मोटे थे, निपल्स भी बाहर निकले हुए थे और ब्राउन रंग के थे. मुझे पता ही नही चला कमला कब वाहा आई,' लो चाचिजी इस रमेश को देखो आपकी चुचिया ही देखे जा रहा है,' उसने कहा और मे सकपका गया मैने अपनी टाँगे भिच ली ताकि उसको मेरा खड़ा लंड ना दिखे,' दीदी अब आप तोड़ा दूध इस बचे को भी पीला दो ताकि इसको कुछ शांति मिले,' कमला बोली. बड़ी चाची हस्ते हुए मेरे पास आ बेती, उन्होने अपनी नाइटी उतार दी, ब्रा तो आगे से खुली ही थी, बाकी सिर्फ़ फ्लॉवेर प्रिंट वाली रेड कलर की चड्डी थी,' ले कमला मेरी ब्रा पूरी हटा दे ताकि रमेश को दिक्कत ना हो, बड़ी चाची बोली.' ले बेटा पी ले तोड़ा दूध तू भी तू भी तो मेरा बेटा ही है,' बड़ी चाची बोली और मेरे पास आकर अपना स्तन मेरे मूह पर लगा दिया,' मुझे तो जैसे अमृत पॅयन का मौका मिल गया, मैने अपने दोनो हाथो से उनका एक बोबा पकड़ा और उसको दबा दबा कर उसका दूध निचोर्ने लगा, उधर इस मौके का फायडा उठाते हुए कमला ने मेरा निकेर खोल दिया और मेरे सुपरे पर जीभ फिरने लगी. थोड़ी देर बाद कमला बोली,' चाचिजी अब अपने अपना दूध तो पीला दिया तोड़ा इसका भी पी लो,' उसने कहा, चाची जी ने अपना स्तन मेरे मूह से हटाया और नीचे झुक कर मेरे लंड को पाकर कर देखने लगी,' कमला लरका तो बड़ा हो गया है लंड भी मज़बूत है इसका, स्वाद भी चख ही लू,' ये कह कर उन्होने लंड को चारो तरफ से चाटना शुरू कर दिया. कमला ने अब तक अपना ब्लाउस खोल दिया था और अपने बूब्स मेरे मूह मे दे दिए, मे कमला के निपल्स चूस रहा था और बड़ी चाची मेरा लॉडा,' लंड तो इसका स्वादिष्ट है कमला पानी का अवद अभी बताती हू, ये कह कर उन्होने पूरा लंड गले मे ले लिया,' वा मेरे आने से पहले ही दोनो रंडिया चालू हो गयी, कमला तुमने तो कहा था रात मे ये हुमको चोदेगा मगर दीदी तो अभी से इसका पानी चखने मे लग गयी,' छ्होटी चाची की आवाज़ आई,' अरे चुद लेना 5 मिनिट मे, जवान लौंडा है रात मे चाहो जितनी बार चुड लेना मुझे भी इसके लंड और पानी का स्वाद तो चक्ख लेने दो, ये कह कर बड़ी चाची ने अपनी स्पीड बढ़ा दी, मेरा नियंत्रण च्छूटता जा रहा था, कोई एक मिनिट बाद ही मे ऊऊह आह करता हुआ बड़ी चाची के मूह मे झाड़ गया, उन्होने एक एक बंड गतक ली,' कमला इसकी मलाई तो गढ़ी और नमकीन है,' वो बोली.
" ले रमेश अब तू हुमारे बेडरूम मे चल आज तेरे लंड को चूत चखवते हाइन,' ये कह कर छ्होटी चाची मुझे अपने बेडरूम मे ले गयी,' कमला और बड़ी चाची भी साथ साथ आ गयी, आज तो बड़े चाचा भी नही थे
-  - 
Reply
07-14-2017, 12:28 PM,
#4
RE: XXX Kahani दो दो चाचिया
रूम मे जाते ही छ्होटी चाची ने मेरा शर्ट उतार दिया और खुद भी नंगी हो गयी, कमला ने भी अपना पेटीकोआट उतार दिया, सिर्फ़ बड़ी चाची ने चड्डी पहनी हुई थी बाक़ी सब पूरे नंगे थे, चाचिजी आपने चड्डी क्यू पहनी हुई है? आपको रमेश का लंड नही लेना क्या?" कमला ने पूछा, ' नही कमला आज तुम दोनो चुद लो मे बाद मे फ़ुर्सत से मेरे भतीजे को चोदुन्गि,' कह कर बड़ी चाची हस्ने लगी. छ्होटी चाची बिस्तेर के कॉर्नर पर घोड़ी बन गयी, उनकी सुंदर और रसीली गांद मेरे सामने थी,' कमला पहले इसको चूत चाटना सिखा साला थोड़ा गरम करे फिर लंड खा उंगी,' छ्होटी चाची बोली. कमला आई और उसने चाची की चूत के होट फैला दिए, अंडर से गुलाबी चूत सॉफ दिखाई दे रही थी,' देखो भाय्या ये देखो अची तरह से, एकद्ूम गोरी और सॉफ चूत है छ्होटी चाची की, पूरी गुलाबी, ये दोनो होट बाहर के है, ' ये कह कर उसने चूत के बाहर के होट दिखाए,' अब देखो ये अंडर के होठ ये नाज़ुक होते है,' ये कह कर उसने चूत को और फैलाया अंडर गुलाबी च्छेद दिखाई दिया,' ये देखो चूत का च्छेद इसमे लंड जाता है और औरत को मस्ती देता है, इसके अंडर जब लंड पानी छोड़ता है तो बच्चा होता है,' कमला बोली,' तो कमलाजी अगर मे चाची की चूत मे पानी छ्चोड़ दू तो उनको बच्चा हो जाएगा?' मैने पूछा,' नही रे पागल, ऐसे बच्चा हो तो हर औरत रोज़ ही बचा जनति रहे, पहली बात तो ये की आदमी की वीर्य मे ताक़त होनी चाहिए,' वो बोली,' वो वीर्य मे ताक़त कैसे आती है ?' मैने पूछा,' एक तो ख़ान पान से दूसरा इन अंडकोषो की मोटाई से,' ये कह कर उन्होने मेरे आँड दबाए मेरे मूह से हल्की चीख निकल गयी,' वो कैसे?' मैने पूछा,' देख हिजडो के आँड होते ही नही तूने बैल नही देखे उनके आँड काट देते है, इसी तरह छ्होटे अंडकोष वेल पुरुष भी नपुंसक होते हाइन,' कमला बोली,' मेरे अंडकोष छ्होटे हाइन क्या कमलाजी?' मैने पूछा' तेरी उम्र देखते हुए तो ये बड़े विशाल हाइन, पूरी फौज मेडा कर दे इतना वीर्य भरा हुआ है इनमे,' कमला ने कहा और उनसे खेलने लगी. " और?" मैने पूछा,' देख औरत का अंडा बना हुआ होना भी ज़रूरी है, वो माहवारी के बीच मे बनता है,' कमला बोली,' लेकिन छ्होटी चाची तो छ्होटे चाचा को खूब चोदति हाइन उनको अभी तक बचा कैसे नही हुआ?' मैने पूछा,' क्यू रे भदवे तुझे कैसे पता मे चाचा को खूब चोदति हू?" छ्होटी चाची घोड़ी बने हुए ही बोली," जल्दी बता नही तो तुझे बैल बना दूँगी ,' कह कर कमला ने मेरे अंडकोष मुति मे भींच लिए,' ओह हॅ बताता हू मैने चोरी छुपे देखा है,' मे बोला.' देख छ्होटी चाचा वैसे तो पूरे मर्द हाइन लेकिन शायद उनके वीर्य मे कोई कमज़ोरी है,' कमला बोली. " ओह' मैने कहा.
कमला ने अब छ्होटी चाची के अंडर के होटो को और छोड़ा किया और बोली,' ये देख इन होटो के उपेर ये छ्होटी सी नुन्नि नही देख रही ये औरतो का लंड है, इस पर घर्षण होता है तब औरतो को चरमसुख मिलता है,' मुझे गुलाबी नुन्नि सॉफ दिखाई दे रही थी जो थोड़ी बाहर निकली हुई थी,' मगर लंड तो नीचे जाता है आप कह रहे थे,' मैने कहा,' अरे हॅ भदवे लेकिन अंडर आता जाता लंड यहा टकराता है और इस पर दबाव डालता है तो औरत को सुख मिलता है,' कमला बोली. कमला ने अब अपनी जीभ बाहर निकली और छ्होटी चाची की क्लाइटॉरिस को चाटने लगी और अपने दूसरे हाथ से चूत को चोद्ने लगी,' ले रमेश अब तू चाची की चूत ऐसे ही चाट मे तब तक तेरा लॉडा चुदाई के लिए गरम करती हू,' कमला बोली.
मे तुरंत चाची की क्लाइटॉरिस चाटने लगा उनको मज़ा आ रहा था और वो गांद को एग्ज़ाइट्मेंट मे हिला रही थी, हॅ रमेश बहुत मज़ा आ रहा है चोद तेरी चाची को अपनी जीभ से गान्डू,' चाची के मूह से गलिया सुन कर मे डंग रह गया और उत्तेजना मे मेरा लॉडा टन गया जिस पर कमला जीब फिरा रही थी,' हॅ भद्वे चाट और अची तरह च्चत,' छ्होटी चाची बोली और गांद थोड़ी और उपेर उठा दी,' मैने अब उनकी चूत को अपनी दो उंगलिओ से चॉड्ना शुरू कर दिया था,' हॅ मदारचोड़ चोद मुझे और ज़ोर से,चोद भद्वे,' चाची बोली,' कमला ने मेरे लंड को थूक से गीला कर दिया था,' दीदी लोहा गरम हो तो हात्ोड़ा तय्यार है,' वो बोली.' अरे यहा तो लोहा लाल हो रखा है हात्ोड़ा मार घुसा दे इसका कुँवारा लंड,' छ्होटी चाची बोली.
कमला ने मेरा गरम लंड पकरा उसके मूह पर तोड़ा थूक और लगाया और घोड़ी बनी हुई छ्होटी चाची की चूत के मूह पर भिड़ा दिया,' अब घुसा दे रमेश अपना पूरा लंड इसकी बर मे,; कमला बोली. मैने पोज़िशन बनाई और लंड सरका दिया चाची की गीली चूत मे जाता हुआ मेरा लंड सॉफ दिखाई दे रहा था एक ही सेकेंड मे चाची की चूत मेरा सूपड़ा खा गयी अब मे पुश कर रहा था और चाची गरम थी,' चोद रमेश चोद मुझे गन्दू लगा अपनी गांद का पूरा ज़ोर फाड़ दे मेरी चूत,' वो बोली.' हॅ चाची चोद तो रहा हू,' मे बोला, 'आबे भद्वे जवान लौंदे की तरह चोद,' कमला बोली और मेरे पीछे आकर मेरी गांद को धक्का मरने लगी, मे एकद्ूम शताब्दी की तरह चोद रहा था, ' ऊऊओह आआह चोद चोद मुझे गन्दू फाड़ दे मेरी चूत गन्दू चोद मदारचोड़ चोद चाचिछोड़, छ्होटी चाची बोल रही थी, मे बहुत एग्ज़ाइटेड था. " लरका चुदाई मे तो अछा है, बड़ी चाची बोली, वो भी पीछे से मेरी चुदाई देख रही थी. मैने छ्होटी चाची की कमर कस कर पकर रखी थी और नीचे हाथ दल कर उनके झूलते बूब्स दबा रहा था. चाची हवा मे गांद उठा रही थी मेरे हर स्ट्रोक के साथ. मेरे आँड उछाल उछाल कर चाची की गांद के अंडर की हिस्से से टकरा रहे थे. " चाची अब रुका नही जेया रहा मेरा पानी च्छुतने वाला है,' मे बोला. " कमला इसकी पूरी थेलि मेरी चूत मे खाली कर दे जवान का वीर्य चूत को ताक़त देता है,' चाची बोली, उधर बड़ी चाची और कमला मेरे पीछे आ गये. कमला ने एक हाथ को नीचे दल कर मेरे लंड का बसे टाइट पकर लिया और दूसरे से मेरी गांद का च्छेद सहलाने लगी, उधर बड़ी चाची ने मेरे उछलते अंडकोषो को हथेली मे क़ैद कर लिया और उनको गे के तन की तरह धीरे धीरे मसालने लगी, ' तू चुड्ती जा मे इसका आंडरास निचोर रही हू,' बड़ी चाची बोली. " हॅ दीदी भर दो इसके वीर्य से मेरी गरम चूत,' छ्होटी चाची बोली, उदार मेरे मूह से एक चीख निकली मेरी सास फूल गयी और ग्र गरर की आवाज़ के साथ मेरा फव्वारा चाची की गुलाबी चूत के अंडर छ्छूट गया , मैने उनकी गांद को कस कर पकड़ लिया ताक़ि एक भी बॉन्ड बाहर नही गिरे,' ओघ रमेश तूने खूब सारा वीर्य से सिंचा है तेरी चाची की चूत को, तुझे जीवन मे एक से एक बढ़ कर चूते मिले,' चाची बोली. मे दो मिनिट ऐसे ही चिपका रहा, फिर जैसे ही लंड बाहर निकला कमला उसको कुट्टी की तरह चाटने लगी, और बड़ी चाची मेरे अंडकोषो पर जीभ फिरा रही थी,' चल रमेश अब मेरी बरी है तेरा जवान लंड खाने की, ये कह कर कमला ने लेट कर अपनी टाँगे चौरी कर दी.
कमला की चौरी टॅंगो के बीच मे उसकी मोटे होटो वाली काली चूत का गीलापन सॉफ दिखाई दे रहा था, ऐसा लग रहा था जैसे चूत मे रिसाव हो,' कमला तेरी चूत तो पनिया गयी लंड अंडर गये बगैर ये हालत है चुदाई मे तो पूरा तालाब बन जाएगा तेरा भोसड़ा,' छ्होटी चाची बोली, 'जवान लॉडा खाने को मिले तो अची अची चूत पनिया जाती है दीदी,' कमला बोली. उधर दोनो चाचीॉ ने अपना काम शुरू कर दिया था, छोटी चाची मेरे लंड का बाया हिस्सा चाट रही थी और बड़ी दया, बीच बीच मे वी मेरा सुपरा भी चाट लेटी, छ्होटती चाची ने अब मेरा लाल टमाटर जैसा सुपरा मूह मे ले लिया था और उसको वैसे ही चूस रही थी बड़ी चाची सामने आ गयी थी और मेरी गांद के तोड़ा उपेर और अंडकोषो के नीचे वाली जगह से लेकर लंड के उपेर तक वी जीभ को खाली सरक पर तेज़ गाड़ी की तरह दौड़ा रही थी, मेरी हालत खराब थी,' चाची अब सहा नही जा रहा,' मे बोला,' सहा नही जा रहा तो लंड की गर्मी कमला की चूत मे शांत कर बेटा,' बड़ी चाची ने कहा. मे कमला के उपेर आ गया, उसने हाथ नीचे लेकर लंड पकरा अपनी चूत के मूह से लगा कर नीचे से गंद उँची की और एक ही झटके मे आधा लंड खा गयी उसकी चूत,' ओह्ह..' मेरे मूह से निकला,' दीदी रमेश बाबू का लंड तो पठार जैसा है मेरी चूत को बहुत मज़ा दे रहा है,' कमला बोली,' मगर ध्यान राखिॉ पानी मेरा है इसका पानी मत गताकना,' छ्होटी चाची बोली,' क्या दीदी बड़ी मुश्किल से तो मेरे भोसड़े मे जवान लंड गया है इसका पानी पी कर ही तो मेरा भोसड़ा ताज़ा होगा, ' छ्होटी चाची से कमला बोली,' तुझे पता है ना मुझे पानी किसलिए चाहिए रमेश का पानी बाद मे तो खूब पीना,' छ्होटी चाची बोली, कमला तुरंत मान गयी,' हॅ दीदी अभी तो कुछ दीनो तक सारा पानी आपका,' उसने कहा और नीचे से ज़ोर से गांद हिलने लगी,' रमेश बाबू आप पानी छ्होटी चाची की चूत मे छ्चोड़ना जैसी ही हल्का होने जैसा लगे लंड बाहर निकल कर दीदी की चूत मे दल देना उनकी चूत को आपके पानी की ज़्यादा ज़रूरत है,' कमला मेरे कान के पास आकर बोली,' लेकिन क्यू कमलाजी?' मैने पूछा,' अरे आप सब समझ जाओगे,' कह कर कमला फिर से चुदाई मे मशगूल हो गयी,' उधर छ्होटी चाची पास ही आकर लेट गयी और अपनी चूत को अपनी उंगली से चोदने लगी ताकि उनकी चूत मेरे गरम पानी के लिए पूरी खुल जाए,' चोदो बाबू चोदो मेरा मोटा भोसड़ा, ऊऊऊः आह्ह चोदो राजा चोदो मुझे और ज़ोर से अपने जवान लंड से मेरे भोस्डे का फाड़ के रख दो चोदो मुझे चोदो मेरे राजा, मे तुम्हारी रंडी हू मारो मेरी ओह्ह्ह मदारचोड़ चोद मुझे चोद भोसड़ी के, चोद गांद चोद इस रांड़ को, 'कमला बोल रही थी और ज़ोर ज़ोर से मेरे साथ गांद हिला रही थी, कमला की चूत एकद्ूम गरम थी और फैल चुकी थी, मेरा लंड गीलापन महसूस कर रहा था, कोई 3-4 मिनिट मे ही मुझे पानी निकालने जैसा लगा, मैने लॉडा बाहर निकाला और छ्होटी चाची की गरम चूत मे दल दिया,' श मेरी जान मेरे राजा तेरे जवान लंड से भुजा मेरी चूत की प्यास बना दे इसका भुर्ता, छ्होटी चाची बोली और मेरी कमर पर अपने पौ लपेट कर मुझे कस कर पकड़ लिया,' डाल अपना ताक़तवर वीर्य मेरी फुददी मे, दे दे मुझे एक तगड़े लंड वाला बेटा,' कह कर चाची उत्तेजित हो रही थी, मगर मे ज़्यादा रुक नही पाया, ऑश चाची कह कर मैने पिचकारी चूड़ दी, चाची ने मुझे कस कर पकर लिया, मेरा लंड 2 मिनिट मे सिकुर गया मगर चाची ने मुझे कोई 4-5 मिनिट तक कस कर पकड़े रखा, उस रात मैने 5 बार कमला को और 5 बार छ्होटी चाची को चोदा, मगर पानी हर बार छ्होटी चाची की चूत मे ही छ्चोड़ा.
-  - 
Reply
07-14-2017, 12:28 PM,
#5
RE: XXX Kahani दो दो चाचिया
कोई डेढ़ महीने तक में छोटी चाची और कमला को चोद्त रहा, एक दिन दोनो बाहर से लौटे और मिठाई ले कर आया,' ले रमेश मिठाई खा , आज हम सब बहुत खुश हेँ, छ्होटी चाची बड़ी चाची और कमला बोली, मैने पूछा,' किस बात की खुशी है चाचिजी?" " अरे अभी तू छ्होटा है बड़ा होगा तो अपने आप पता चल जाएगा,' बड़ी चाची बोली.' थोड़ी देर बाद मैने छुप छुप कर तीनो की बात सुनने लगा,' बता देते इसको की ये तुम्हारे बचे का बाप बनने वाला है,' छोटी चाची बोली,' अरे बेवकूफ़ अभी ये बचा है ग़लती से इसके मूह से ये बात निकल हटी तो तेरे पति तेरा खून कर देंगे,' बड़ी चाची बोली,' हा दीदी ये बात तो सही है,' छ्होटी चाची बोली.' और हा तूने इस दौरान अपने पति को चोडा तो था ना?" बड़ी चाची ने पूछा,' हा दीदी तीन बार आए थे इस बीच में ये और रात रात भर इनसे में चुद ली थी,' छ्होटी चाची बोली,' फिर ठीक है मगर ध्यान रखना तेरे पति को किसी भी चीज़ की भनक ना लगे,' बड़ी चाची बोली,' वा दीदी अपने दो दो बचे दो अलग अलग मर्दो से पैदा कर लिए, जेत्जी को तो आज तक पता नही चला,' छ्होटी चाची बोली,' अरे इनके आँड में डम होता तो इनसे अब तक आधा दर्ज़न बचे नही हो गये होते,' कह कर बड़ी चाची हस्ने लगी,' वैसे बुड्ढे आँड में भी इतना डम होता है ये पता नही था,' छ्होटी चाची बोली,' अर्रे वो बुद्धा लगता है तू एक बार चुद कर देख रमेश से ज़्यादा ताक़त है उसकी गांद मे,' बड़ी चाची बोली,' बगीचे में किशन लाल की खुरपई कम चलती है आपके भोसड़े में ज़्यादा,' कह कर छ्होटी चाची ज़ोर से हस्ने लगी,' अरे में भी उसकी खुरपई को बेकार समझती थी मगर ये कमला तो धोती के उपेर से देख कर ही औज़ार की ताक़त भाँप लेती है,' बड़ी चाची बोली,' हा दीदी इसकी आँखे क्ष रे हैं, सीधे मर्द की चड्डी के अंडर देख लेती हेँ,' कह कर तीनो औरते हस्ने लगी. मुझे सब समझ मे आ गया था, बड़ी चाची हुमारे माली किशन लाल को चोद्ति थी, इसलिए उन्होने अभी तक मुझे नही चोदा था.

मे किशन लाल को बड़ी चाची को चोद्ते देखना चाहता था. एक दिन मैने पेट दुखने का बहाना किया और स्कूल से छुट्टी मार ली. मुझे ध्यान था किशन माली 11 बजे के आसपास आता था. ' चाचिजी मे दरवाज़ा बंड कर के लेट जाउ, जब तबीयत ठीक होगी तब उठ जौंगा,' मैने बड़ी चाची से कहा,' हा बेटा सो जा मे तुझे जगा दूँगी,' बड़ी चाची बोली. मुझे पता था कोई 5-10 मिनिट बाद बड़ी चाची मुझे ज़रूर चेक करने आएँगी, वो आई तो मे गहरी नींद का बहाना करने लगा. मेरी खिड़की से बाहर पूरी लॉन दिखती थी, मैने खिड़की की दरार मे से देखना शुरू काइया. किशंबगीचे मे खुरपई कर रहा था. बीच मे वो बार बार बड़ी चाची के कमरे की तरफ देख लेता था. वो उकृू बैठा था. थोड़ी देर के बाद उसने अपनी धोती खोल कर एक पेड़ पेर तन्गि और ढरी वाले कच्चे मे बेथ गया. ,मुझे पता था बड़ी चाची उसको देख रही थी, थोड़ी देर मे उसने कचे के साइड से अपना एक आँड बाहर निकाला, ऐसा लग रहा था जैसे वो अंजाने मे निकल गया हो मगर मैने देखा था की उसने वो गोली जान बुझ कर बाहर निकाली थी, थोड़ी देर बाद उसने दूसरी गोली भी बाहर निकल ली, अब उसके आँड नीचे लटक रहे थे, मेरे अंडकोष तो ज़्यादा बड़े नही थे मैने पहली बार किसी आदमी के ऐसे लटके हुए और मोटे अंडकोष देखे थे. थोड़ी देर मे बड़ी चाची उसके लिए चाइ बना कर लाई, किशन ने उनको देख कर आँड वापस कचे मे डाल दिए. चाचिजी ने चाइ उसके बिल्कुल पास जा कर रखी और एक हाथ से उसके लंड को उपेर से ही दबा दिया, और खुद उसके सामने प्लास्टिक की कुर्सी पेर बैठ गयी,' क्या हुआ आज चुदाई नसीब नही होगी क्या?' किशन ने पूछा,' नही किशन आज भतीजा स्कूल नही गया है,' चाचिजी बोली.' किशन ने मुझे गली दे,' उस मदारचोड़ को भी आज ही छुट्टी लेनी थी मे तो मन बना कर आया था,' एयो बोला,' कोई बात नही कल दो बार चोद लेना,' चाचिजी बोली.' " खड़ा हुआ लंड चूत को चोद कर ही कचे मे जाता है जैसे म्यान से निकली तलवार सिर काट कर ही वापस म्यान मे जाती है,' किशन बोला.' अछा दिखा तो सही तेरी तलवार,' चाचिजी बोली.किशन ने बैठे बैठे ही कचे के साइड से अपना पूरा लंड बाहर निकल दिया,' अभी तो ठंडा पड़ा है तेरा हथियार,' चाचिजी बोली,' आपकी छ्होट दिखाओ इसे तो ही खड़ा होगा,' किशन बोला, बात करते करते वो एक हाथ से लंड हिला रहा था. चाचिजी ने नाइटी पहनी हुई थी, उन्होने पाव उँचे कर लिए, अंडर चड्डी नही थी, इस तरह किशन को चाचिजी की चूत के दर्शन हो रहे थे, किशन अब तेज़ी से लॉडा हिलने लगा, दूसरे हाथ से वो चाचिजी की चूत मे उंगली कर रहा था. मुझे पता था अंडर से छ्होटी चाची और कमला भी ये सब देख रहे है मेरी तरह. खुले आम घर की लॉन मे एक बूढ़ा माली मेरी चाची के सामने लंड हिला रहा था,' किशन तेरा औज़ार बूढ़ा हो गया, किसी काम का नही रहा,' चाचिजी बोली, ये सुनते ही किशन खड़ा हुआ और कचा नीचे साल कर चाचिजी के मूह मे अपना समान डाल दिया चाचिजी कुलफी की तरह उसको चाटने लगी दूसरे हाथ से वी उसके अंडकोष मसल रही थी." चूस रंडी चूस मेरा लॉडा अभी बताता हू तुझे ये लंड बूढ़ा है या जवान,' किशन बोला और चाचिजी का मूह चोद्ने लगा,' कोई 3-4 मिनिट मे किशन का लंड आकर ले चुका था, उसका लंड कोई 8 इंच का होगा और उसका कला सुपरा बहुत मोटा था, चाचिजी उल्टी हुई और कुर्सी के हाते का हहरा ले कर घोड़ी बन गयी, किशन ने पीछे से उनकी चूत मे अपना लंड पेल दिया, वो पूरी ताक़त लगा रहा था, ' क्यू रंडी अब बता बूढ़े का लंड है या जवान का?' वो बोला,' मेरे राजा मे तो तुझे गुस्सा दिला रही थी गुस्से मे तू बहुत ताक़त से चिदता है जिस से मेरी चूत को बहुत मज़ा आता है,' चाचिजी बोली, किशन हर स्ट्रोक पेर बोलता ले रंडी फाड़ रहा हू तेरी चूत,' फाड़ दो किशन फाड़ दो मेरा भोसड़ा,' चाचिजी बोल रही थी. किशन ने स्पीड तेज़ कर दी थी वो राजधानी एक्सप्रेस की तरह चोद रहा था,' ओह किशन मे मार जौंगी बड़ा ज़ालिम है तू, चाचिजी ने कहा.' कोई 5 मिनिट की चुदाई के बाद चाचिजी का पानी निकालने वाला था,' किशन मे झाड़ रही हू, मेरा राजा,' ये कह कर वी गांद को उछालने लगी, किशन उनके चुतदो पेर थप्पड़ मार रहा था, ऊवू किशन मेरे बूढ़े सांड़ मे तेरी गे हू भर दे मेरी चूत,' चाचिजी बोली और हफने लगी, वी झाड़ गयी थी, उन्होने अब आगे से हाथ क़िस्स्काया और किशन के उछाल रहे आँदिओ को पकड़ लिया,' अब कर दे तेरे आँड मेरी चूत मे खाली,' वो बोली,' हा रंडी ये ले तेरे भोस्डे मे आ रहा है मेरा पानी,' ये कह कर किशन पेड़ से गिरे पत्ते की तरह हिलने लगा. पानी च्छुतते ही उसने चाचिजी को कमर से कस कर पकड़ लिया था, ' साले तू मुझे और बचा दे कर मानेगा,' चाचिजी बोली और हट गयी, किशन ने उनके पेटिकोट से अपना लंड पोछा और वापस कचा और धोती पहन लिया,' अब मे जाती हू कल ज़रूर आना,' कह कर चाचिजी चली गयी, किशन फिर से खुरपई करने लगा.
-  - 
Reply
07-14-2017, 12:28 PM,
#6
RE: XXX Kahani दो दो चाचिया
बड़ी चाची की माक वासना देख कर मे बहुत उत्तेजित था, मैने घुटने मोड़ कर उपेर कर लिए और चदडार उपेर डाल कर तंबू बना दिया, अंडर हाथ से मुति मारने लगा, मे इतना उत्तेजित था की कोई आठ डस स्ट्रोक्स मे ही पानी छ्छूट गया. जैसे ही मैने चदडार मे से मूह निकाला तो देखा कमला खड़ी थी,' हुमने कितनी बार कहा है आपको की मुट्ठी मारने का मन हो तो मुझे कह दिया करो,' वो बोली. मुझसे कुछ बोला नही गया,' मे जानती हू तुमने बड़ी चाची की माली से चुदाई देखी है इसलिए हाथ से करने लग गये,' कमला ने कहा,' ' हा कमलाजी,' मैने कहा.' मान मसोसने की ज़रूरत नही चलो बगीचे मे, किशन माली की तरह ही हमे चोद लो ऐसा सोचना की बड़ी चाची को ही चोद रहे हो, उसने कहा और मेरी चद्दर फेंक दी. कमला मुझे अधनंगा ही बगीचे मे ले गयी,' कोई आ जाएगा,' मैने कहा,' अरे आएगा तो उसको भी चोद लेना, उस बुड्ढे को देखा नही खुले आम तुम्हारी चाची को चोद गया और तुम हो की शर्मा रहे हो,' कमला बोली. कमला कुस्रि पेर बैठी और मेरे लंड को थूक से गीला कर उस पेर अपनी जीभ फिरने लगी, कोई एक मिनिट मे ही मेरा जवान लंड वापस तन गया. कमला बड़ी चाची की तरह कुर्सी के हाते पाकर कर घोड़ी बन गये,' ले अब किशन माली की तरह चोद मुझे, कह कर उसने अपनी काली गांद उपेर कर दी. मैने अपना खड़ा हुआ लंड पीछे से उसकी चूत के होटो पेर रखा और एक धक्का मारा, ऊओह ,' उसके मूह से निकला,' तुममे तो बहुत ताक़त है रमेश,' कमला बोली,' अपनी पूरी ताक़त मेरे भोस्डे मे खाली कर दो मुझे ज़ोर से चोदो,' उसने कहा, मैने उसके चुतताड पाकर लिए और घिस्से लगाने लगा,' ओह मदारचोड़ चोद मुझे फाड़ मेरी फुददी,' कमला बोली. " देखने दे तेरी बड़ी चाची को खिड़की से उन्हे भी पता चले जवान और बुद्धि गांद की ताक़त का उन्तेर,' कमला बोली, जैसी ही कमला ने ये कहा, बड़ी चाची अंडर से बाहर आई और कहने लगी,' किशन की गांद की ताक़त की बात मत कर, बड़ा मज़बूत है वो,' उन्होने कहा,' अरे जाओ चाचिजी, देखा इस लौंदे के लंड की मज़बूती डूस बार पानी निकल जाए तो भी ऐसा ही रहेगा, वो बुद्धा एक बार चोद ले तो 24 घंटे तक उसका लंड खड़ा नही होता,' कमला बोली. मे बड़ी चाची से नज़रे कुरा कर चोदे जा रहा था, बड़ी चाची मेरे पास आई और मुझे किस करने लगी, मेरे हाथ उन्होने अपने मुम्मो पेर रख दिए, मे एक हाथ से कमला की गांद मे उंगली कर रहा था दूसरे से चाची के बूब्स दबा रहा था, बहुत मज़ा आ रहा था,' बेटा तुझे मे चुदाई का बहुत मज़ा दूँगी, मेरी चूत कमला से ज़्यादा टाइट और गरम है बस तुझे थोडे दिन तरसा लू,' ये कह कर चाचिजी ने मेरा निचला हॉट काट लिया, मे इतना उत्तेजित था की दो मिनिट मे मेरा नल खुल गया,' दल दे इसकी नाली मे अपना अमृत,' चाचिजी बोली. " नाली होगी आपकी मेरा तो कमाल का फूल है, कमला ने कहा,' हा वो भी तो कीचड़ मे ही खिलता है, चाचिजी बोली,' रमेश बाबू आपका अमृत जहा जाए वो जगह खराब हो सकती है क्या?' कमला बोली, मैने अपना गीला लंड बाहर निकाला और ढोने के लिए बाथरूम मे चला गया.
मे बाथरूम से जैसे ही बाहर आया, छ्होटी चाचिजी बोली,' वा भैया, किशन माली की चुदाई देख ये हाल हो गया आपका?' वो बोली. मे घबरा कर भाग गया. " अब तुमको नयी नयी चुदाई दिखानी पड़ेगी ताकि तुम ऐसे ही बेक़ाबू होते रहो,' छ्होटी चाची की आवाज़ मुझे पीछे से सुनाई दी. " कमला घर मे होने वाली सारी चुदाई अब इस लरके को ज़रूर दिखाते रहना,' वो कमला से बोली. मुझे आइडिया हो गया अब चोरी छिपे या सामने घर मे होने वाली रोज़ की चुदाई ज़रूर देखनी होगी.
शाम को होमे वर्क कर के मैने खाना खाया तभी दोनो चाचा एक साथ आ गये. दोनो कोई 15 दिन बाद घर आए थे. खाना खा कर मे लॉबी मे टीवी देख रहा था, तभी बड़ी चाची ने कहा,' कमला रमेश को अकेले मत सुलाना उसके साथ ही सो जाना बचा अकेले मे तोड़ा डरता है,' ये सुनते ही मेरे लंड मे झुरजुरी होने लगी, मगर गांद भी फट रही थी, कमरे का दरवाज़ा तो बंड कर नही सकता था, मगर थोड़ी देर मे कमला आ गयी, मेरे लिए दूध भी लेकर आई,' लो रमेश बाबू दूध पी लो तभी तो मलाई निकलेगी,' वो आँख मार कर बोली. कोई डस बजे वो मुझसे बोली,' पहले छ्होटी चाची की चुदाई देखेंगे, वो खीरकी हल्की सी खुली रखेंगी और लाइट जला कर रखेंगी,' कमला बोली. आधे घंटे बाद वो उठी और बोली,' चलो रमेश बाबू, वाहा तलवार बाहर निकल गयी है.'
हम दोनो खिड़की के पीछे चुप कर देखने लगे. चाचा चाची दोनो नंगे थे, चाची चाचजी का लंड चूस रही थी, वो नीचे लेते हुए थे और चाची की गांद चूस रहे थे,' भेन्चोद तेरी तो गांद भी रसीली है, कितने दिन हो गये इसको छाते हुए और इसको मारे हुए,' चाचजी बोले,' देखो अब जब तक बचा नही हो जाता चुदाई बूँद, थोड़े दिन गांद मार लो फिर ये भी बूँद,' चाचिजी बोली,' मगर फिर मेरे लंड का क्या होगा?" चाचजी ने कहा,' मे मूठ मार दूँगी नही तो कमला है आपकी बड़ी भाभी है,' चाचिजी हस्ते हुए बोली,' धत गंदी बाते करती है,' चाचजी बोले. कोई 5-7 मिनिट की चटाई के बाद चाचा ने छ्होटी चाची को घोड़ी बनाया और उनकी गांद मे नारियल का तेल दल कर उसको उंगली से मरने लगे,' अब लॉडा डाल भी दो कब से उंगली जीभ डाले जा रहे हो,' चाचिजी बोली,' ठीक है जान,' ये कह कर चाचजी ने अपने लंड पेर भी तेल लगाया और चाची की गांद के च्छेद पेर रख दिया, मेरा लंड ये सब देख कर पागल हो रहा था.
-  - 
Reply
07-14-2017, 12:28 PM,
#7
RE: XXX Kahani दो दो चाचिया
कमला बड़ी एक्सपर्ट थी, उसको पता थी मुझ जवान लौंदे की हालत, उसने मेरी लूँगी उपेर की और मूह अंडर घुसा दिया, चड्डी तो मैने पहनी नही थी,' रमेश बाबू, मेरे मूह को ही चाची की गांद समझो और अपने लंड को चाचा का लंड और कर दो अपने अंडवे मेरे पेट मे खाली, ज़्यादा आ ऊओह नही करना नही तो अंडर चाचजी को पता चल जाएगा,' उसने कहा और मेरे सुपरे पेर दाँत लगा दिए. वो अब अपने मूह से मेरा लंड चोद रही थी, उधर चाचजी तेज़ी से मेरी चाचिजी की गांद कर भुर्ता बनाने मे लगे हुए थे,' अरे फड़ोगे क्या मेरी गांद? इतनी तेज़ी से मत करो..' चाचिजी बोलती रही और चाचजी चोद्ते रहे. " अछा ठीक है अब तेरी गांद मे मेरी मलाई भर देता हू, कह कर चाचजी ऊओह आ करने लगे, ठीक उसी वक़्त मे भी झार गया. कमला मेरे लंड के मूह से वीरया की एक एक बूँद चाट रही थी.

मैने लूँगी लपेट ली. कमला बोली अब बड़ी चाचिजी की कुश्ती देखने चलते है. बड़ी चाची जी बिस्तेर के कोने पेर बैठी थी और चाचा खड़े थे, दोनो नंगे थे और वो चाचजी का सिकुरा हुआ लंड चूस रही थी, जबकि चाचा उनके बड़े बड़े बूब्स दबा रहे थे. कोई 5-10 मिनिट तक वो चाचजी का लंड चुस्ती रही,' उस रंडी नर्स ने चूस चूस कर इसका रस निकल दिया है अब ये मेरे किसी काम का नही रहा,' चाचिजी बोली. मैने कमला की तरफ देखा तो वो समझ गयी,' अरे चाचजी जिस गॅव मे रहते है वाहा केरल की एक मोटी नर्स भी रहती है दोनो एक ही मकान मे रहते है और रोज़ चोद्ते है, कमला मेरे कान मे बोली. चाचजी का लंड खड़ा होने का नाम नही ले रहा था,' लो अब अपनी जीभ से मेरी चूत चूस कर इसकी प्यास बुझाओ,' कह कर चाचिजी ने अपनी मोटी गांद उपेर कर दी, चाचजी कुत्ते की तरह उनकी चूत चाटने लगी,' छत भद्वे, चाट हिजड़े,' चाचिजी बोल रही त,' तेरी जीभ से चोद मेरा गरम भोस मदारचोड़ ,' उन्होने कहा, अब मेरी चूत तेरी जीभ पेर पानी छ्चोड़ रही है भोसड़ी के,' कह कर वो खल्लास हो गयी. कमला बोली,' मुन्ने अब कमरे मे चलो वही चोदेन्गे,' मे चल दिया.
कमरे मे पहुच कर कमला ने अपने कापरे खोले, दरवाज़ा बंड काइया और मेरे कापरे उतरने लगी. मेरी लूँगी के उपेर ही वो मेरा फूला हुआ लंड मसल रही थी, मुझे पता था कमला बहुत उत्तेजित है. एक मिनिट मे उसने मुझे एकद्ूम नंगा कर दिया और बिना लंड चूसे मेरे उपेर आ गयी, एक झटके मे उसने मेरा लंड अपने भोस्डे के होटो पेर रखा और धजाक्का दिया. उसकी गीली चूत मे मेरा गरम लंड एकद्ूम से आसानी से सरक गया, ओह्ह राजा मेरी चूत को बहुत मज़ा आ रहा है पूरा खा जाएगी ये तुम्हारे लंड को ,' ये कह कर उसने गांद उँची की और ज़ोर से धक्का दिया, इस बार मेरा पूरा लॉडा अंडर सरक गया, मे कमला के बूब्स मसालने लगा , वो उछाल उछाल कर मुझे छोड़ने लगे,' ओह भद्वे, मदारचोड़, भेन्चोद छूतिए छोड़ता जा मुझे, मार मेरी ज़ोर से, बहुत मज़ा आ रहा है, तेरा लॉडा तो एकद्ूम हात्ोड़ा है राजा, ' ये कह कर कमला ने रफ़्तार बढ़ा दी, मेरी हालत खराब थी, वो एकद्ूम मदमस्त हथनी की तरह चोद रही थी. उसके मोटे चूतड़ उछाल उछाल कर मेरे आँड को दबा रहे थे,ओह राजा मे झाड़ रही हू ऊऊ आ ,' कह कर उसने मेरे बॉल कस कर पाकर लिए और पानी छ्चोड़ दिया. कमला एकद्ूम शांत पद गयी,' अब तुम उपेर आ जाओ, उसने कहा और नीचे लेट कर टाँगे चौरी कर ली, मे लंड को अड्जस्ट कर उसमे घुस गया और स्पीड बढ़ा दी, वो सी सी कर रही त, मे किसी जंगली की तरह उसको चोद रहा था,' चोद राजा चोद इस रंडी को, चोद और मेरी चूत का भुर्ता बना दे, कह कर कमला ने मेरी गांद कस कर पाकर ली. मे अब कंट्रोल नही कर पा रहा था, कोई एक मिनिट मे मेरे लंड के मूह से गरम वीरया फूट पड़ा, कमला की प्यासी चूत की दरारओ ने उसकी एक एक बूँद सोख ली. रत मे दो बार कमला को मैने और चोडा.
अगले दिन सुबह मे स्कूल चला गया, दोपहर मे खाना खा कर होँवोर्क काइया, छ्होटे चाचा और बड़े चाचा दोनो वापस चले गये थे. छ्होटी चाची ने मुझे गले लगा कर चुंबन दिया, कमला भी मस्त थी,' रात मे चुदाई का खूब मज़ा दिया तुमने रमेश बाबू,' वो बोली. लेकिन बड़ी चाची दिखाई नही दी, मुझसे रहा नही गया,' कमला आज बड़ी चाची कहा है?' कमला ने आँख मार कर कहा,' देखोगे?' मुझे कुछ समझ नही आया, मैने कहा,' हा', उसने कहा,' चुपचाप मेरे साथ आओ.'
मे कमला के साथ चल दिया. " किशन माली अपने एक दोस्त को साथ लाया है, बड़ी चाची एक साथ दो लंड खा रही है,' कमला बोली. मुझे कुछ समझ नही आया. कमला मुझे छ्ट पेर ले गयी, वाहा रोशनदान से सब कुछ दिख रहा था. किशन माली के उपेर बड़ी चाचिजी लेती थी और उसका मोटा लंड चूस रही थी, वो खुद उनकी चूत चाट रहा था. उधर एक और अढेढ़ अवस्था का आदमी बड़ी चाची की गांद चाट रहा था. मैने पहली बार किसी आदमी को गांद चाटते हुए देखा था,' कमला इसको गांद चाटने मे शरम नही आती,' मे बोला,' अरे रमेश बाबू, अब कहे की शरम, अभी देखने इस गांद का कैसे ये भुर्ता बनता है.' किशन का लंड अब पूरा फेल चुका था, चाची अब उसके उपेर आई और उसको चोदने लगी,' चोद रंडी मुझे ज़ोर से चोद,' किशन ने कहा. उधर दूसरा आदमी अब चाची की गांद को एक उंगली से चोद रहा था, चाची ऊओह आ कर रही थी, रमेश ने देखा उस आदमी का लंड काफ़ी मोटा और लंबा था,' उस्मान अब इसकी गांद खुल गयी होगी पेल दे अपना लॉडा,' किशन बोला,' हा भाई रूको, उसने कहा और अपने लंड का खुला हुआ सुपरा चाची की मोटी गांद के च्छेद पेर लगा दिया,' ओह्ह मरेगा क्या भद्वे,' चाचिजी बोली. मगर वो रुका नही और धीरे धीरे लंड सरकता रहा, कोई 3-4 मिनिट मे उसका आधा लंड चाची की गांद मे सरक गया था. चाची किशन को चोद रही थी ओए वो आदमी चाची की गांद. बीच मे चाची ऊओह आ कर रही थी, बाहर निकालो मेरी गांद फट जाएगी, मगर दोनो कहा सुनने वेल थे, खचाखच दोनो लंड अब चाची के दोनो काले च्छेदो मे आ जा रहे थे. कोई 5 मिनिट बाद दोनो ने पोज़िशन बदल ली, अब उस्मान चाची की चूत चोदने लगा और किशन गांद, मे मार जौंगी दो मोटे लॉडो के बीच भेन्चोदो बस करो अब और अपना पानी निकालो, चाची बोली, अभी कहा रंडी तेरी चुदास हम आराम से मिटाएँगे, कह कर दोनो ने रफ़्तार बढ़ा दी, चाची हाँफ रही थी,' ओह्ह मदारचोड़ो मेरा पानी छ्छूट रहा है, कह कर वी झाड़ गयी, उधर 2 मिनिट के अंदर दोनो मर्दो ने भी उनके अंडर पानी छ्चोड़ दिया. दोनो ने अपनी लूँगी और धोती बँधी और चुपचाप खिसक लिए. चाची वैसे ही नंगी पड़ी थी.
-  - 
Reply
07-14-2017, 12:29 PM,
#8
RE: XXX Kahani दो दो चाचिया
बड़ी चाची थी एक नंबर की चुड़क्कड़ लेकिन मुझे अपनी चूत क्यू नही दे रही थी कुछ समझ मे नही आ रहा था, मुझे बचा मनती थी, या उनको मेरा लंड छ्होटा लगता था? मेरे मन मे बस यही स्वाल उठते रहते थे.
उस दिन के बाद से मे तो हमेशा बड़ी चाची की चूत उनका बदन और उनकी चुदाई याद कर के मुथि मारता रहता. कमला के साथ मेरी चुदाई जारी थी लेकिन छ्होटी चाची की रूचि अब मेरी चुदाई से ज़्यादा मेरा बच्चा पैदा करने मे थी. उनको उल्टिया शुरू हो गयी थी. कोई महीने भर बाद छ्होटी चाची की मा और उनकी बड़ी बहन उनकी देखभाल के हिसाब से हुमारे घर मे रहने आई. उनकी मा की उमरा आराम से 56 साल की थी, उनके घुटने मे गारबर थी शायद आर्तिरटिस की प्राब्लम थी, उनकी हाइट आराम से 5 फ्ट 6 इंच थी, बूब्स आराम से 44 साइज़ के थे और इस उमरा मे भी सख़्त नज़र आते थे, वो चलती तो ऐसे लगता जैसे गांद के उपेर उनका बदन रखा हुआ हो, उनकी गांद अलग से नज़र आती थी. उमरा के हिसाब से उनका पेट तो बढ़ा हुआ था मगर वैसे वो सेक्सी लगती थी. उनका नाम रेखा था और छ्होटी चाची की बड़ी बहन का नाम हेमा था. वो कोई 36-37 साल की थी, और उनका बदन अछा भरा पूरा था. गोरी थी और बूब्स आराम से 38 के थे. कमर ज़्यादा मोटी नही थी, गांद मा जितनी बड़ी तो नही थी मगर एकद्ूम गोल थी. उनके हॉट एकद्ूम गुलाबी थे और मोटे भी. तीन चार दीनो बाद उनकी लर्की भी साथ रहने आने वाली थी जो 8त क्लास मे पढ़ती थी.

छ्होटी चाची उनके आने से बड़ी खुश थी. हालाँकि च्चत पेर बने अलग कमरे मे दोनो मा बेतिया रहती थी लेकिन छ्होटी चाची के कहने पेर वी ज़्यादा तार उनके रूम मे ही सोती थी. चाचजी के आने पेर ही वी उपेर जाती थी, लेकिन चाचजी ने भी कह दिया था के वी उपेर सो जाएँगे दोनो औरते छ्होटी चाची के रूम मे ही रहे. कमला मेरे साथ सोती थी. छ्होटी चाची मा और दीदी के आने से बड़ी खुश थी, तीनो के हासणे की आवाज़े आती रहती थी. एकाध दिन तो मुझे लगा जैसे अब मे एकद्ूम अकेला हू मगर एक दिन मैने उनकी बाते चुप चुप कर सुनी तो मेरा मन खुश हो गया,' क्यू रे तेरा ये भतीजा बचा ही है या बड़ा होने लग गया?' छ्होटी चाचिजी की मम्मी ने पूछा,' मे बतौ चाचिजी?' कमला बोली,' बता ही दे कमला मे मम्मी से कुछ नही चुपति,' छ्होटी चाची बोली,' अरे ऐसा भी क्या है,' रेखा बोली. " मुम्मय्जी ये जो बचा चाचिजी के पेट मे है ये उस भतीजे का ही बीज है,' कमला बोली,' क्या ये सच कह रही है बेटी?" मा ने बेटी से पूछा,' हा मम्मी, मेरे पति की चुदाई तो ठीक है मगर आँड मे दूं नही उनके भरोसे रहती तो बचे को तरस जाती, घर की चुदाई से उनको शक भी नही,' वो हस्ते हुए बोली,' ओह तो भतीजा इस उमरा मे चाचा से भारी पड़ा?' रेखा बोली,' हा मुम्मय्जी उसका हथियार भी भारी है, अभी तो कूम उमरा है लेकिन कमला उसको चुदाई सीखा रही है थोड़े दीनो मे देखना एकद्ूम सांड़ बन जाएगा,' चाचिजी बोली,' तो फिर इस बूढ़ी गाय को भी उस सांड़ से चुड़वा देना,' मम्मीजी हस्ते हुए बोली. " मम्मीजी वो तो मे कल परसो ही करवा दूँगी आप रूको बस,' कमला बोली,' लेकिन तेरी बड़ी नहन क्या यहा चूत मे उंगलिया डालने आई है,' हेमा हस्ते हुए बोली,' उस बचे की जान लोगे क्या तुम, एक तो कमला दूसरी मम्मीजी तीसरी आप, तीन चुतो को चोदने जितना दूं उसकी गांद मे नही,' छ्होटी चाची बोली,' अरे एक बार मुझे उसका लंड देखने दे पसंद आ गया तो गांद मे दूं तो मे घुसा दूँगी,' हेमा बोली और चारो औरते हासणे लगी.' मुझे पता चल गया मेरी प्यारी छ्होटी चाची मुझे 2 नयी चूते ज़रूर दिलवाएँगी.
रात को जुब रमेश टीवी देख रहा था तो छ्होटी चाची और कमला उसके पास आए,' क्या टीवी पेर फ़िल्मे ही देखेगा या हुमको कोई ब्लू फिल्म भी दिखाएगा?' छ्होटी चाची आँख मार कर बोली,' चाचिजी अब आपको तो चोद नही सकता क्या फयडा ब्लू फिल्म देख कर मूठ मारने से,' रमेश बोला,' अरे चुतिये तू लगा तो सही जुब तक तेरी चाची इस दुनिया मे है तुझे मूठ मारने की ज़रूरत तो नही पड़ने देगी,तेरा पानी हमेशा चूत मे ही निकलेगा मेरे लाल,' चाचिजी ने कहा. रमेश उठा और स्ने ब्लू फिल्म लगा दी, फिल्म मे दो औरते थी और एक आदमी, थोड़ी देर मे एक औरत उसके उपेर आ कर उस आदमी के मोटे लंड को चोद रही थी तो दूसरी उस आदमी के मूह पेर बैठ उस से अपनी चूत चटवा रही थी दोनो बरी बरी से जगह बदल रही थी. देखते ड़खटे रमेश का लंड उसकी लूँगी को तंबू बना रहा था, उसी वक़्त छ्होटी चाची की मा और बड़ी बहन नाइटी पहन कर करे मे आ गये , रमेश जैसे ही टीवी से चॅनेल चेंज करने को हुआ छ्होटी चाची ने उसे रोक दिया,' मेरी मा और बहन से क्या छुपाओगे मैने तो उनको तुम्हारे लंड का साइज़ तक बता रखा है,' वो बोली. रमेश को सारम आ रही थी और कुछ भी समझ नही आ रहा था.
उधर रेखा सामने वेल सोफे पेर बैठ गयी और पॅव टेबल पेर रख दिए, उसके पॅव घुटनो से मूरे हुए थे उसलिए अंडर से चूत लगभग दिखाई दे रही थी,' ले बेटी थोड़ा घुटना मसल दे,' उन्होने कहा, हेमा ने ट्यूब ले कर उनके हूटने की मालिश शुरू कर दी, मम्मी गाउन उतार ही दो,' रेखा ने अपना गाउन हटा दिया, अब वो सिर्फ़ काली ब्रा बहने बैठी थी, गाउन को उन्होने फोल्ड कर के अपनी चूत के सामने रख दिया लेकिन वी लगभग नगी ही थी,' मम इस लरके की नियत आपकी बड़ी बड़ी छातिआ देख कर खराब हो जाएगी,' छ्होटी चाची बोली,' नियत खराब होने की क्या बात है बेटा, तेरा भतीजा है जो चाहे करे, उस से क्या शरमाना,' वो बोली, ' मम्मी मेरा गाउन अपनी इस दवाई से भर जाएगा, मे भी इसको उतार ही देती हू,' हेमा बोली, उसने भी गाउन हटा दिया, अब वो सिर्फ़ चड्डी और ब्रा मे थी, उसने रेड कलर की ब्रा पहनी थी और फ्लवर प्रिंट वाली चड्डी.
रमेश का लंड बेकाबू था, छ्होटी चाची ने उसकी लूँगी नीचे खिसका दी और उसको चूसने लगी,' चाची मेरा पानी निकल जाएगा आपके मूह मे,' वो बोला,' कोई बात नही अपनी चाची को अपना रस ही पीला दे, चोद दे मेरा मूह मेरे राजा,' कह कर चाचिजी उसका लंड मूह से छोड़ने लगी , रमेश की गांद उँची नीची हो रही थी, चाचिजी ने दोनो हाथो से उसके चूतड़ पाकर रखे थे,' चाही मेरा पानी आ रहा है,' कह कर रमेश ने कोई 15 बूंदे चाची के मूह मे एक एक कर के छ्चोड़ दी, चाची सारा पी गयी, अब शांति हुई तुझे अब अपना रस मेरी मा और बहन के भोस्डे मे डालना,' कह कर चाचिजी हट गयी, उधर रेखा और हेमा रमेश के पास आ गयी, रमेश रेखा के मोटे मोटे बूब्स दबाने लगा, रेखा रमेश के पास आई और ब्रा खोल कर अपने मोटे बूब्स रमेश के मूह से सता दिए वो बचे की तरह निपल चूसने लगा, उधर हेमा उसके लंड को चूसने लगे, रमेश का जवान लंड तय्यार होने लगा कोई दो मिनिट मे ही वो फिर से कारक हो गया, हेमा तुरंत उसके लंड पेर चाड गयी और छोड़ने लगी, उधर कमला भी उसके पास आई, एक तरफ कमला के बूब्स थे दूसरी तरफ रेखा के रमेश बरी बरी से दोनो को मसल रहा था चूस रहा था, और उधर हेमा उसकी ज़बरदस्त चुदाई कर रही थी, रमेश बहुत एग्ज़ाइटेड था, 5 मिनिट के अंडर अंडर वो हेमा की चूत मे झाड़ गया.
उधर रेखा अब सोफे पेर चुदाई वाली पोज़िशन ले चुकी थी, उसकी मोटे होटो वाली बिना बॉल की चूत खुली थी और रमेश के लंड का इंतज़ार कर रही थी. हेमा ने अब रमेश के लंड को चूसना शुरू कर दिया था, रमेश 5 मिनिट मे फिर गरम हो गया,' आ बेटा अब मेरी प्यास बुझा, कह कर रेखा ने पॅव चौरे कर दिए, रमेश ने आव देखा ना तव उसकी चूत मे तक से अपना लंड उतार दिया, ' ओह राजा चोद मुझे तेरा लंड खा कर मेरी चूत तुझे दुआ दे रही है, कर इसकी सिकाई, ' कह कर रेखा ने अपने पॅव और फैला दिए. हेमा ने अपनी मा के पॅव चौरे कर पाकर लिए, रमेश की गांद अब उसकी मा के दोनो पाओ के बीच थी और उँची नीची हो रही थी. उसको रेखा की चूत चुदाई मे शानदार लगी,' क्यू बेटा मेरी बुद्धि चूत ठंडी तो नही तेरे जवान लॉड के लिए?' रेखा ने पूछा,' नही मुम्मय्जी इसने तो मेरे लंड को कस कर पाकर लिया है और जवान चूत से ज़्यादा टाइट है, कह कर रमेश ने चुदाई की रफ़्तार बढ़ा दी,' हा बेटा कितने सालो से इसको लंड नही मिला टाइट तो होगी, अब तू ही इसको चोद चोद कर चौड़ी कर दे,' रेखा बोली,' हा मम्मी ,' रमेश बोला, उधर कमला रमेश की गांद को पाकर कर उसको उँची नीची कर रही थी, चोद मदारचोड़ अपनी मा का भोसड़ा ,' कमला बोली और उसकी गांद मे उंगली भी करने लगी, रमेश अब किसी पक्के चुड़क्कड़ की तरह लगा हुआ था, कोई 5 मिनिट मे रेखा दो बार झाड़ गयी,' ओह मदारचोड़ तेरे लंड ने मेरी चूत का बहुत पानी निकाला ऐसे लंड को खूब मस्त छूटे मिले मेरे बेटे,' रेखा बोली,' अब तू मा की चूत मे अपना बीज छ्चोड़ दे बेटा, वो बोली, उधर कमला ने अब रमेश के उछलते अंडकोषो को मुट्ठी मे पाकर लिया और गे के तन की तरह उनको दूहने लगी, रमेश किसी कुत्ते की तरह हांफता हुआ झाड़ गया,' ले रंडी मेरा बीज ले,' वो बोला और रेखा के पेट पेर ही पस्त पद गया. अगले 24 घंटो मे रमेश को दोनो मा बेटिओ ने कोई 10 बार निचोड़ा. चुदाई से उसका लंड दुखने लगा था और आँड खाली हो गये थे.
-  - 
Reply
07-14-2017, 12:29 PM,
#9
RE: XXX Kahani दो दो चाचिया
उधर एग्ज़ाम ख़त्म होने के बाद हेमा की बरी लर्की हुमारे घर आई, रमेश ये मेरी भांजी है तेरी हम उमरा है, हफ्ते भर यहा रहेगी तू इसके साथ खेलना कूदना,' छ्होटी चाची बोली. उस लर्की का नाम अनामिका था. वो टी शर्ट और जीन्स पहनती थी, घर मे बेरमूडा और टी शर्ट. उसका बदन इस उम्र मे भी भरा हुआ था, बूब्स उसके ज़्यादा विकसित नही हुए थे, मगर फिट भी 30 की साइज़ के तो हो ही गये थे शायद. उसको माहवारी आनी शुरू हो गयी थी, गांद का साइज़ नॉर्मल था, उसके हॉट गुलाबी थी, और उसकी हँसी मुझे बहुत अच्छी लगती थी, अगले दिन दोपहर मे वो मेरे पास आई, रमेश भैया डॉक्टर डॉक्टर खेले?' मैने कहा हा, मगर मुझे आता नही,' मे सीखा दूँगी, मे बचपन से खेल रही हू, उसने कहा. हम छत पेर बने कमरे मे चले गये, देखो मे पहले मरीज़ बन कर ओँगी तुम डॉक्टर बनना, मैने हा कहा. मे कमरे मे बैठ गया, सफेद कोट पहन कर, उधर अनामिका ने दरवाज़ा खटखटाया, डॉक्टर साहब आ जाउ?' वो बोली,' हा आ जाओ, कह कर रमैने उसे पास के स्टूल पेर बिता दिया,' कहो क्या बीमारी है तुम्हे? मैने पूछा,' मेरे यहा दर्द है डॉक साहब, वो अपनी चड्डी की तरफ इशारा कर के बोली,' अछा तुम जा कर कापरे खोल कर बिस्तेर पेर लेतो मे चेक करता हू, मैने कहा उसने अपने सारे कपड़े खोल दिए और नंगी लेट गयी.
वो सीधी लेती थी उसकी टाइट और गोल छातिआ मुझे सॉफ दिखाई दे रही थी. उसके निपल्स गुलाबी थे और छ्होटे छ्होटे थे. पेट पतला था और नीचे चूत पेर उगे ताज़े ताज़े बॉल दिख रहे थे, मे घबरा गया मगर सांस ले कर पूछा,' कहो क्या तकलीफ़ है आपको?" अनामिका ने मेरा हाथ पकड़ा और अपने बूब्स पेर रख कर कहा यहा दर्द है डॉक साहब, मे उसकी छातिआ दबाने लगा, उसके निपल्स पेर उंगली फिरने लगा, उसके निपल्स अब सीधे खड़े थे,' डॉक साहब इनको पी कर देखिए कही मेरा दूध आना तो नही शुरू हो गया?' वो बोली, मे झुक कर उसके निपल्स का चूसने लगा, वो एग्ज़ाइटेड थी और उसकी साँसे तेज़ चल रही थी, कोई 4-5 मिनिट बाद जब उसको थोड़ा होश आया तो उसने कहा,' डॅक साहब नीचे भी दर्द है,' मैने पूछा नीचे कहा?" सूसू वाली जगह पेर,' उसने कहा,' अपनी टाँगे फैला दो मे चेक करता हू,' मैने कहा. मे नीचे आया और उसकी चूत के बाहरी होटो को हल्का हल्का दबाने लगा,' यहा?" मैने पूछा,' नही डॅक साहब, अंडर की तरफ दर्द है, अंडर से चेक करो ना,' वो बोली,' मैने उसकी चूत के बाहरी हॉट फैलाए और अंडर के होटो को चौड़ा कर दिया, अंडर उसकी चूत एकद्ूम गुलाबी थी, एकद्ूम कचा माँस दिखाई दे रहा था,' कहा पेर दर्द है?" मैने पूछा,' उसने मेरा उंगली अपनी क्लाइटॉरिस पेर रख दी और बोली,' यहा पेर,' मे उसकी गुलाबी और नरम क्लाइटॉरिस से खेलने लगा, उत्तेजना से वो अब गांद उँची नीची करने लगी, मैने भी उसकी क्लाइटॉरिस को चाटना और चूसना शुरू कर दिया,' डॅक साहब ये तो बहुत अछा इलाज़ है इस से तो मे बहुत जल्द्दई ठीक हो जौंगी, कह कर उसने मेरे बॉल कस कर पकड़ लिए,' वो ओह्ह आ करने लगी मैने चूसा चालू रखी थोड़ी देर मे उसकी हिलती हुई गांद रुक गयी,' इलाज़ हो गया डॅक साहब, अब मे ठीक हू,' कह कर उसने लंबी साँस ली,' जब भी दर्द हो मेरे क्लिनिक पेर आ जाना, मैने कहा,' हा चोदु डॅक साहब मे आपके पास ही ओंगी,' कह कर वो हस्ने लगी,' उसने अपने कपड़े पहने और वही बैठ गयी,' अब मे डॉक्टर हू तुम मरीज़ बन कर आओ, उसने कहा.
मे अब मरीज़ था. अंडर गया और बोला,' डॅक साहब मुझे प्राब्लम है,' उसने पूछा,' क्या प्राब्लम है?' मैने लंड की तरफ इशारा काइया और बोला,' यहा प्राब्लम है.' उसने कहा,' ठीक है कापरे खोल कर लेट जाओ.'
मे एकद्ूम नंगा था, उत्तेजना के मारे मेरा लंड सीधा खरा था, वो आई और बोली, कहा प्राब्लम है?' मैने खड़े लंड की तरफ इशारा कर दिया,' क्या प्राब्लम है इसको?' "खड़ा बहुत जल्दी होता है डॅक साहब और इसका साइज़ भी बड़ा करना है,' मैने कहा, वो पास आई और मेरे लंड को थप्पड़ मारा,' दर्द हुआ?' उसने पूछा,' नही डॅक साहब अछा लगा,' मैने कहा,' अरे इसको तो पिटाई अची लगती है,' उसने कहा,' अछा थोड़ा चेक कर लेती हू,' उसने कहा. अब वो मेरे लंड के बिल्कुल पास आ गयी, उसने मूट के च्छेद को गौर से देखा फिर आघे की चमरी चेक की और उसको धीरे धीरे नीचे सरकया फिर से उपेर चढ़या फिर उसके नीचे के टंके देखे. मेरा सुपरा फूल कर आलू हो रहा था. अब ओ पूरे लंड को हल्का सा हिलने लगी चमरी उपेर नीचे करने लगी, फिर उसके हाथ नीचे गये उसने मेरी गोलिया पहले हल्की दबाई, फिर उनको चेक किया,' यहा दबाने से दर्द तो नही होता?' उसने पूछा, ज़्यादा ज़ोर से दबाओगे तो होगा डॅक साहब, मे बोला, 'यहा कोई प्राब्लम तो नही?' उसने पूछा,' नही डॅक साहब बस इनको भी मोटा करना है और यहा बॉल कूम है,' मे बोला,' अछा ठीक है दवाई दूँगी.' अब उल्टे हो कर घोड़ा बुन जाओ,' वो बोली, मे घोड़ा बन गया, उसने मेरी गांद को चौड़ा कर के उसके च्छेद को देखा, गांद के च्छेद से नीचे आँदिओ तक की चमरी को भी दबाया सहलाया,' यहा तो कोई प्राब्लम नही?' उसने पूछा,' नही डॅक साहब यहा तो कोई प्राब्लम नही,' मे बोल.ऊस्ने अब मेरी गांद के एक च्छेद को एक हाथ से बड़ा काइया और दूसरे से उसमे उंगली करने लगी, मुझे अछा लग रहा था,' दर्द हो रहा है?' उसने पूछा,' नही डॅक साहब बहुत अछा लग रहा है, अब वो होल होल मेरी गांद कोंगली से चोदने लगी और दूसरे हाथ से मेरी लटकती गोलिया सहलाने लगी, मुझे बहुत एग्ज़ाइट्मेंट हो रहा था मेरा लंड बेक़ाबू हो रहा था, चेक उप चल ही रहा था की पीछे से कमला कब आ गयी मुझे पता ही नही चला. उसने अनामिका से कहा डॅक साहब आप ऐसे ही करते रहो मे इसका लंड हिला कर इसका पानी निकलती हू, कमला अब एक हाथ से मेरे लंड हिला रही थी दूसरे से सुपरे के आगे पीछे चमरी हिला रही थी, मेरी हालत पतली थी,' डॅक साहब मेरा पानी निकल रहा है, मे बोला,' निकल लो उसको भी चेक करेंगे,' वो बोली, गरर गरर करता मे झाड़ गया, वो मेरे वीरया को चखने लगी और उसको गौर से देखने लगी,' अछा ये पेट मे जाता है तो बचा बनता है,' उसने कहा,' मे बोला हा.
-  - 
Reply
07-14-2017, 12:29 PM,
#10
RE: XXX Kahani दो दो चाचिया
कमला मेरा वीर्यापात देख कर बहुत उत्तेजित थी. उसने कहा,' बेटा तुम जानना चाहती हो लरके का लंड औरत की चूत मे कैसे जाता है? चुदाई कैसे होती है?" " हा आंटी मुझे सिख़ाओ ना,' अनामिका बोली. "ठीक है,' कह कर कमला ने सारे कापरे उतार दिए और एकद्ूम नंगी हो गयी, मे तो पहले ही नंगा था,' देखो सबसे पहले आदमी और औरत दोनो के गुप्तँग गरम और गीले होने ज़रूरी है, कमला बोली,' वो कैसे होते हे?" अनामिका ने पूछा,' देखो आदमी का लंड चूस कर चाट कर या हाथ से हिला कर गरम किया जाता है, गरम होते ही वो तन जाता है,' कमला बोली, उसने मेरे ढीले लंड को हाथ मे लिया,' देखो एक बार पानी निकालने पेर लंड सुस्त पर जाता है, अब मे इसको गरम कर के खड़ा करूँगी, जब तक ये गरम नही होता तब तक चूत मे नही जा सकता,' वो बोली,' कैसे आंटी?" अनामिका ने पूछा,' अरे पगली जब कारक नही होगा तो च्छेद मे कैसे घुसेगा?" उसने कहा, अनामिका को शायस्ड कुछ समझ मे आया,' लेकिन आंटी औरत कैसे गरम होती है?" उसने पूछा,' कमला ने अनायका को पास बुलाया और उनकर होकर बिस्तेर के कोने पेर बेत गयी, उसने अपनी चूत के दोनो बाहरी हॉट फैला दिए और अंडर की दोनो फेक भी फैला दी,' देखो अभी यहा सब सूखा है,' उसने कहा, अनामिका ने पास आ कर कमला की चूत को गौर से देखा और उसमे उंगली भी डाली,' थोड़ी देर मे देखना ये एकद्ूम गीली हो जाएगी ताकि लंड इसमे आसानी से चला जाए,' वो बोली.' फिर चुदाई कैसे होती है?" अनामिका ने पूछा,' वो तुम देख लेना, पहले इसके लंड को गरम करते हे,' कह कर कमला ने मेरा गीला लंड चूसना शुरू कर दिया, अनामिका गौर से देख रही थी.

कमला अब मेरे उपेर आ गयी थी, उसने मेरे मूह के पास अपनी चूत रखी, मे उसकी चूत के होटो को शॉरा कर अंडर जीभ दल कर उसको चूसने चाटने लगा, मेरे चूसने की आवाज़े ज़ोर ज़ोर से आ रही थी, उधर कमला मेरे लंड की ग़ज़ब की चूसा कर रही थी, थूक से मेरा लंड एकद्ूम गीला था. उसकी शानदार चूसा से एक मिनिट मे ही मेरा लॉडा तन गया था,' देख बेटा अब मेरी चूत भी गीली हो गयी और इसका लंड भी गरम हो गया, अब हम करेंगे चुदाई,' वो बोली, ' रमेश बाबू आअप मेरे उपेर आ जाओ, ताकि इसको चुदाई का सही तरीका पता चल जाए,' कह कर कमला हटी , मे भी उठ गया, अनामिका मेरा गरम और ताना हुआ लंड देख रही थी, कमला ने अपनी टाँगे शॉरा दी, अब देखना बेटा मेरी चूत की इस च्छेद मे ये कैसे अपना हथियार गुसता है, कह कर उसने पॅव उँचे कर दिए, उसकी चूत के अंडर का लाल हिस्सा सॉफ दिख रहा था, मैने अपना लॉडा उसकी चूत के होटो पेर रख दिया,' देख बेटा अब इसका लॉडा मेरी चूत के होटो के बीच मे है अब ये धक्का मरेगा और इसके आयेज का सुपरा अंडर चला जाएगा,' कमला बोली, उसके कहे अनुसार मैने धक्का मारा और सुपरा अंडर घुसा दिया, ' हा आंटी आगे की टोपी अंडर गयी, अनामिका पीछे से देखते हुए बोली,' अब देखना ये एक धक्का और मरेगा और आधा लंड पेल देगा अंडर,' वो बोली, मैने थोड़ा उपेर हो कर वापस लॉड को दबा दिया, कमला की चूत मे आधा लंड घुस चुका था, ' बेटा अब पूरा लंड बाहर निकल कर एक ही शॉट मे पूरा अंडर डाल दो,' वो बोली, मैने ज़ोर का झटका मारा और उसकी गीली चूत मे पूरा गरम लंड पेल दिया, कमला ने एक हाथ से मेरे निपल्स सहलाने शुरू कर दिए और दूसरे से मेरी गांद कस कर पकड़ ली, अब चोदो मुझे राजा, वो बोली, मे छोड़ने लगा,' अब क्या हो रहा है आंटी?" अनामिका बोली, अब ये लंड अंडर बाहर करेगा स घर्षण से इसको भी मज़ा आएगा और मुझे भी, इसी को चुदाई कहते हे रानी, कमला बोली, अब इस लर्की को जाने दे भाड़ मे तू मुझे चोद राजा ठंडी कर मेरे भोस्डे की आग,' कमला बोली,' आंटी ये भोसड़ा क्या होता है?" अनामिका ने पूछा,' अरे तेरे पास अभी चूत हे जुब ये खूब चुड कर चौड़ी हो जाएगी और इस मे से बचे निकल जाएँगे तो ये भोसड़ा बन जाएगा,' कमला बोली,' ओह्ह राजा चोद मुझे मदारचोड़ चोद कर अपनी रंडी बना दे राजा, चोद ऊऊ आहह, कमला बोलने लगी,' आंटी गंदा क्यू बोलते हे?' अनामिका ने पूछा,' अरे बेटे चुदाई करनी हे तो क्या शरमाना, गंदा बोलने से ज़्यादा उत्तेजना होती हे आदमी को ज़्यादा मज़ा आता हे, उसको लगता हे जैसे वो किसी रॅंड को चोद रहा हे, आदमी को जितना गरम करोगे उतना ही म्ज़ा देगा,' कमला बोली,' हा कमला तेरा भोसड़ा मज़ा दे रहा है चुदाई मे, ओह्ह एकद्ूम गरम हे तेरी चूत मज़ा आ गया रंडी तुझे छोड़ने मे,' मे बोला और ज़ोर ज़ोर से छोड़ने लगा,' हम दोनो ओह्ह आह करने लगे, कोई 5 मिनिट की चुदायके बाद ही कमला बोली, बेटा अब मे झड़ने वाली हू अब मेरी चूत पानी छ्चोड़ने वाली हे,' हा मेरे गन्दू चोद अपनी मदारचोड़ रंडी को ऊओह आहह, कह कर कमला झाड़ गयी,' अब तू भी पानी छ्चोड़ दे मेरे चोदु राजा,' कमला ने कहा, मेरी स्पेड भी तेज़ हो गयी, हा मेरी रानी ये ले मेरा बीज तेरी चूत मे आने को हे, तय्यार हो जा ये आया गरम बीज, ऊओह आहह ओह्ह मेरी राअंड्ड़, कह कर मे भी जड़ने लगा. आ\नामिका सब देख रही थी, मे जैसे ही हटा उसकी नज़र कमला की चूत मे से बह रहे मेरे वेरया पेर पड़ी,' आंटी ये तो बाहर आ रहा हे?" ' नही बेटी एक बूँद भी उनेर जाए तो कीमती बन जाता हे, वीरया से कीमती कुछ नही मेरी जान, वो बोली. उधर अनामिका ने मी गीला लंड चाटना शुरू कर दिया, ऐसा ही है तो मे भी इसे वेस्ट नही करूँगी,' उसने कहा,' आंटी मुझे भी चूड़ना हे,' वो बोली,' नही बेटी रुक जा, ऐसे नही तेरी पूरी सुहाग रात मानएँगे, कमला बोली.
-  - 
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Thumbs Up bahan sex kahani बहना का ख्याल मैं रखूँगा 84 117,083 02-22-2020, 07:48 AM
Last Post:
Thumbs Up Indian Sex Kahani चुदाई का ज्ञान 119 66,689 02-19-2020, 01:59 PM
Last Post:
Star Kamukta Kahani अहसान 61 219,239 02-15-2020, 07:49 PM
Last Post:
  mastram kahani प्यार - ( गम या खुशी ) 60 143,672 02-15-2020, 12:08 PM
Last Post:
Star Adult kahani पाप पुण्य 220 941,815 02-13-2020, 05:49 PM
Last Post:
Lightbulb Maa Sex Kahani माँ की अधूरी इच्छा 228 769,938 02-09-2020, 11:42 PM
Last Post:
Thumbs Up Bhabhi ki Chudai लाड़ला देवर पार्ट -2 146 87,703 02-06-2020, 12:22 PM
Last Post:
Star Antarvasna kahani अनौखा समागम अनोखा प्यार 101 208,303 02-04-2020, 07:20 PM
Last Post:
Lightbulb kamukta जंगल की देवी या खूबसूरत डकैत 56 28,608 02-04-2020, 12:28 PM
Last Post:
Thumbs Up Hindi Porn Story द मैजिक मिरर 88 104,216 02-03-2020, 12:58 AM
Last Post:



Users browsing this thread: 1 Guest(s)
This forum uses MyBB addons.

Online porn video at mobile phone


Xxxmoyeeदीदी मैं आपके स्तन देखना चाहता हुmaa ke bed ke neeche nirodhOffice line ladki ki seal pak tel lga ker gand fadi khoon nikala storiessax video xxx hinde जबर्दस्ती पकर कर पेलेrandi maa ke karname sex storiespariwar ki haveli me pyar ki bochar sexballiwood herion xxx hindikahaniasexbaba chut ki aggपाय वर करुन झवलेWww bahu ke jalwe sexbaba.comChhoti bahin ki rasili chut ka mazedar swadbhai jaan abbu dekh lenge to o bhi chudi karega antarvasnaअन्जू की गलियां भरी चुदाई की कहानियाँsalenajarly photoWww.xbraz.sex.zx.comdasi gand babe shajigxxx karen ka fakesnushrat bharucha new nude sex picture sexbaba.comबिलकुल नंगी लड़की हिप्पसmangalsutra sexbabanaukar chodai sexbabasara khan acetrss naked fuck photo sex babaMoti gand vali mami ko choda xxxChut ka baja baj gayasote bahan ki chut chatkar choda aur uska mut pineki kahaniNude Awnit kor sex baba picssexbaba ಚಿತ್ರಗಳನ್ನುkoi. aisi. rundy. dikhai. jo. mard. ko. paise. dekar. sex. karna.Bigg Boss actress nude pictures on sexbabasabonti sex baba potosपरिवार मे चोदा राज शर्मा सेक्स कहाणीMother our genitals locked site:mupsaharovo.rusex bf hindimausi betaThongibabasexBur me anguri dalna sex.comChodte samay pani nahi hai chut me lund hilake girana padta haibaba k dost ny chodaकलयुगचूतjanavarsexy xxx chudaiKhole aam kai jhadai me dekho xxx video44sal ke sexy antyparivar tatti khaiKamsin yuni is girlsmuslem.parevar.sexsa.kahane.hinde.sex.baba.net.mumelnd liya xxx.comगुंडों ने मेरी इतनी गंद मरी की पलंग टूट गया स्टोरीDidi ko choda sexbaba.Nettarak mehta ka ooltah chashmah me anjali bhabhi ke gande nange chut ki chudai saxy storyImage of babe raxai sexDeep throt fucking hot kasishजबर्दस्तमाल की चुदाईsexbaba storywww sexbaba net Thread tamanna nude south indian actress assXxx sex hot chupak se chudaiछोटी सी भूल वाशनाpaise ke liyee hunband ne mujhe randi banwa karchudwa diya hindi sex storyNEW MARATHI SEX STORY.MASTRAM NETकंचन बेटी हम तुम्हारे इस गुलाबी छेद को भी प्यार करना चाहते हैं.”चडि के सेकसि फोटूanti ko nighti kapade me kaise pata ke pelesexbaba comictelugu thread anni kathaluHindi sex video gavbalaantrvasna marathi milk braXXNXX COM. इडियन बेरहम ससुर ने बहू कै साथ सेक्स www com NEW MARATHI SEX STORY.MASTRAM NETSexbabanetcomxxxnx.sax.hindi.kahani.bikari.ge.varshini sounderajan nude archives south actress nude fakes hot collection page 253very sexy train me daya babita jethalal chudai storiessex viedios jism ki payasxxx zadiyo me pyarstar plus all actress nude real name sexbaba.innude bollywood actress pic sex babaAditi govitrikar nude sex baba60 साल की उम्रदराज औरत के साथ सँभोग का अनुभवbhosrasexMeri chut ki barbadi ki khani.xxxxbf Hindi mausi aur behan beta ka sex BF Hindiayyashi chachi k sangChut ka baja baj gayakhala ko raat me masaaje xxx kahanichhoti beti ko naggi nahate dekha aur sex kiya video sahit new hindi storymadarchod gaon ka ganda peshabdaku ne meri biwi ko choda kahaninewxxx.images2019 maa beta suhagrat desi chudeye hindi stories